" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Feb 12, 2010

फील्ड्स ऑफ़ ग्रीन ( FIELDS OF GREEN ) धरती का वरदान


जैसा की नाम है फील्ड्स ऑफ़ ग्रीन : - इस उत्पाद में अलग अलग प्रकार के हरी घास को प्राकृतिक तरीके से मिलाकर गोली तैयार की है |
वो घास है जिसका नाम है --जौ की घास ,अल्फ़ा-अल्फ़ा , गेहूं के ज्वारे ,क्लोरोफिल और केन पेपर |


यह उत्पाद पौष्टिकता से भरपूर है ,यह हमारे शरीर में फलों और सब्जियों की कमी को पूरा करता है |
W.H.O. का कहना है की हमारे खाने में 5% से 7% फल और सब्जियां अवश्य होनी चाहिए |

जौ की घास :- इसमें कई एंटी-ओक्सिडेंट होता है जैसे सेलेनियम के अलाबा विटा करोटीइन |
इससे शारीर में स्टेमिना बढ़ जाता है | सेक्स सम्बंधित परेशानी में यह ऊर्जा का काम करता है |
यह शारीर के अन्दर स्पष्ट सोंच में सुधार लाता है | लत लगी हुई कोई भी चीज को त्यागने में यह उत्पाद काफी मदद करता है |


अपने दिनचर्या के खान पान में अगर इसे उपयोग करते है तो त्वचा सम्बंधित रोग से या रंग में भी सुधार होता है ,बढती उम्र से जो त्वचा में शुष्कता होती है वो ठीक होती है |
इनमे कई एंजाइम ,कलोरोफिल और बायोफ्लेवोनयोइड होता है |
उददीपन्न विरोधी तत्वों से गेहूं के ज्वारे समृद्ध होने के साथ साथ इसमें अनुकूल क्षमता है |
ये ड्योडओनम और पैंक्रिया की दशाओं के इलाज़ में बहूत ही फायदेमंद है |-

--- कुदरती तौर पर मिला गेहूं के ज्वारे का रस धरती के प्राणी के लिए एक अनमोल पुरस्कार है |
इसके रस में रोगोन्मुलन की अद्भुत शक्ति विद्यमान है |
वैज्ञानिकों ने शोध के बाद पता लगाया की शारीर को निरोग रखने में यह अत्यंत लाभदायक सिद्ध हुआ है |
इसलिए इसे " हरा रक्त " ( Green Blood ) की उपमा दी है |

शारीर के लिए यह प्राकृतिक शक्तिशाली औषधि है |
कार्बोहाइड्रेट,सभी विटामिन,क्षार एवं श्रेष्ठ प्रोटीन युक्त ज्वारे के रस के सेवन से विभिन्न प्रकार के रोगों से इतीश्री कर सकते है |
जो इस उत्पाद को श्रेष्ठ श्रेणी में रखा जाता है |

इसके विधिवत प्रोयोग से कुछ ही समय में आश्चर्यनक परिणाम प्राप्त हुए है |
इसके उपयोग से मूत्राशय की पथरी,ह्रदय रोग,मधुमेह,दांतों के रोग,लकवा,दमा,गठिया,बालो का झड़ना, कब्ज़ मिटती है,शक्ति बल में वृद्धि होती है और थकान नहीं होती है |
हर आयु वर्ग के लोगों को निरोगिता प्रदान करने में सक्षम है

|
यह हिमोग्लोबिन की मात्रा में वृद्धि कर एनीमिया से छुटकारा दिलाने में रामवाण औषधि है जबकि ह्रदय रोग में यह रक्त वसा ( कोलेस्ट्रोल ) की मात्रा कम कर उच्च रक्तचाप नियंत्रित करता है |
यह बच्चों में कृमिज रोग को ठीक करता है|

अल्फ़ा-अल्फ़ा :----- कैल्सियम ,मैगनेशियम,फोस्फोरस,लौह,पोटाशियम,खनिजों का समृद्ध स्त्रोत है |
खासकर प्रोटीन का सर्बोतम स्त्रोतों में से एक है और इसमें क्लोरोफिल,केरोटिन,विटामिन ए ,डी,इ,बी-६ के तथा कई पाचक एंजाइम खासी मात्रा में मिलते है |

गठिया,गाउट और रायूमेटीजम के जड़ी-बूटी संबंधी पारंपरिक इलाज़ में अल्फ़ा-अल्फ़ा को सर्वोत्तम माना जाता है |
भूख और ताकत बढाने,पाचन सुधरने,अनिद्रा दूर करने और तंत्रिका प्रणाली को राहत पहुंचाने में अल्फ़ा- अल्फ़ा का उपयोग किया जाता है |
इंसुलिन की गतिविधि में सुधार लाकर,अल्फ़ा-अल्फ़ा मधुमेह के रोगीओं की मदद करता है |
वह बबासीर,शारीर की दुर्गन्ध और दमा के इलाज में कारगर साबित होता है |


क्लोरोफिल :- यह पौधे का रक्त होता है और वह मानव - रक्त के समान होता है |
यह खून को साफ करके उसकी गुणवता सुधार देता है |
बैज्ञानिक ने सिद्ध कर दिया है की कलोरोफिल बेकार बैक्टेरिया के विकास को कम करता है |
यह रक्तप्रवाह को पुनर्निर्माण करता है ,और शारीर कइ अन्दर जमा हो गए विषैले तत्वों को बेकार बनाकर जिगर का शुध्धिकरण करता है |
यह रक्त शर्करा सम्बंधित समस्याओं का भी समाधान कर दशा में सुधार लाता है |

केन पेपर :----इसमें विटामिन,खनिज और गैर पौष्टिक क्रियात्मक यौगिक है |
शारीर के अन्दर की वाकायदा सफाई करते है |
केन पेपर उदर में हो गए अल्सरों से बहने वाले खून को कम करने या रोकने की सामर्थ्य रखता है |
सर्दी-जुकाम , प्रभावित डायरिया तथा रयुमेतिज्म में फायदा पहुंचाता है |

अंततः यह शरीर से कोलेस्ट्रोल को कम करता है और एक सम्पूर्ण आहार के साथ शरीर को ताकत देता है |अगर कोई ब्यक्ति इसे एलो वेरा गेल के साथ में पौष्टिक पूरक के तौर पर अपने दिनचर्या के आहार में शामिल करता है तो उम्र भर कोई भी असाध्य रोग उन्हें छू नहीं सकता |


एलोवेरा के कोई भी स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद 30 % छूट पर खरीदने के लिए admin@aloe-veragel.com पर संपर्क करें और ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

ज्ञान दर्पण
ताऊ .इन

1 comments

Ratan Singh Shekhawat February 14, 2010 at 10:36 AM

बढ़िया जानकारी

Post a Comment