" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Dec 31, 2011

उमीदों से भरा हुआ साल 2012



"इश्वर का दिया हुआ कभी "अल्प" नहीं होता
जो टूट जाये वो "संकल्प" नहीं होता
हार को लक्ष्य से दूर ही रखना
क्योंकि जीत का कोई विकल्प नहीं होता" !!

इन्हीं शब्दों के साथ आने वाले साल का स्वागत करते है और आप सब के लिए नए साल में नए उमंग, नए तरंग, सेहत व सुखमय रहे ! निरोग जीवन जिए व आर्थिक व शारीरिक रूप से हमेशा स्वस्थ्य रहे !! दुनिया के तमाम देश आज नए साल का जश्न जोश व खरोश के साथ मना रहे है ! उम्मीदों से भरा हुआ होगा ये साल 2012 !! स्वागत स्वागत और हार्दिक स्वागत !
एक बार फिर से आप सबका नए साल की हार्दिक बधाई !!!

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Dec 13, 2011

महाराष्ट्र में अण्णा की आँधी की हवा हवाई !!


सियासी इलाके में महाराष्ट्र नगरपालिका व नगर परिषद चुनाव परिणाम के जो कयास लगाये जा रहे थे उसका बिलकुल उल्टा ही हुआ ! मतलब अण्णा ने खुलकर एन.सी.पी. और उनके मुखिया शरद पवार का निकाय चुनाव में विरोध किया था , परन्तु अण्णा की आंधी बस हवा हवाई नजर आई ! हैरतअंगेज तरीके से एनसीपी अब तक आए नतीजों यानि 177 नगरपालिका सीटों में नंबर वन पार्टी बनकर उभरी है जबकि कांग्रेस उसके पीछे यानि दूसरे नंबर पर है। जबकि बीजेपी और शिवसेना को तीसरे नंबर से संतोष करना पड़ा।

आशा थी की केंद्र सरकार में गठबंधन व अण्णा की आँधी, किसानों का आन्दोलन , भ्रष्टाचार के मुद्दा शायद एन.सी.पी पर भरी पड़ेंगे परन्तु थप्पड़ कांड के बाद उनकी पार्टी निकाय चुनाव में और भी मजबूत हुई है ! ग्रामीण इलाके में उनकी पैठ और भी मजबूत होती नजर आ रही है ! नगरपरिषद की कई सीटों पर कांग्रेस और एनसीपी ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था। इसके बावजूद दोनों पार्टियां मजबूत होकर उभरीं।


मतलब कांग्रेस व एन.सी.पी. ने महाराष्ट्र चुनाव में अपना लोहा मनवा लिया है यानि विरोधियों को धुल चटा दिया ! यह चुनाव अण्णा बनाम एन.सी.पी. व कांग्रेस थी ! अण्णा की अन्नागिरी अपने ही गढ़ पुणे व अहमदनगर में भी बिलकुल बेअसर नजर आई !

हालांकि इन नतीजों से सबसे ज्यादा कोई मायूस नजर आया तो वो हैं राज ठाकरे। कई नगरपालिकाओं में तो उनकी पार्टी खाता भी नहीं खोल सकी। मायूस होने का वक्त न सिर्फ राज ठाकरे को है बल्कि शिव सेना व बी.जे.पी को सोचने का प्रयास करना चाहिए ! ये नतीजा विरोधियों के लिए सोचने पर मजबूर कर दिया है !


इस तरह के परिणाम की उम्मीद शायद ही अण्णा जी सोचे होंगे ! अब क्या कहना चाहेंगे अण्णा जी ? क्या वहां के जनता मुर्ख है ? उन्हें अण्णा व शरद पवार के बारे में जानकारी नहीं है ? आजकल के वयानबाजी के मुताबिक अण्णा जी जो चाहेंगे वही होगा ! परन्तु यह नतीजा शायद उनके भ्रम को बदल सकने के लिए काफी है ! जब घर के लोगों को अण्णा ने नहीं समझा पाए तो क्या खाक समझायेंगे देश के 125 करोड़ को !

सर्वप्रथम उन्हें खुद को समझने का प्रयास करना चाहिए ! हम सुधरेंगे, जग सुधरेगा ! मन में राम, बगल में छुरी ! घर में भ्रष्ट लोगों के बारे में जब बोलने की बारी आती है तो आज के पीढ़ी की गाँधी जी मौन ब्रत रख लेते है ! यह वही मॉडर्न गाँधी है जिन्होंने महाराष्ट्र में हुई पूर्वोत्तर राज्य से आये हुए परीक्षार्थी पर हुए एम्.एन.एस. यानि राज ठाकरे के गुंडे द्वारा हमले पर उनकी पुरजोर तारीफ की थी ! कहा था शाबाश, बहुत अच्छे यह है सच्ची राज्य भक्ति !

मराठा मानुष के नाम पर राजनीती करने वाले सरेआम गुंडागर्दी करते रहे परन्तु वो वजाय की उन्हें रोकते उनकी प्रसंशा की ! सिर्फ गाँधी जी के तस्वीर के समक्ष " वैष्णव जन को तेने कहिये जी पीर पराये जाने न " भजन करके गाँधी नहीं बना जा सकता है ! आचरण सर्वोपरि होनी चाहिए !

"वाह रे गाँधी क्या है तेरी आँधी
आया था लंगोट में बस गया हजार के नोट में !!
गैर सरकारी संस्था (Non-Goverment Organization ) को लोकपाल में नहीं रखने के पीछे क्या मनसा है ? क्या इससे किरण वेदी व अरविन्द कजरीवाल जैसे न जाने कितने एन.जी.ओ. में घोटाला पर पर्दा नहीं डाला जा रहा है ? आखिर एन.जी.ओ. को क्यों नहीं लोकपाल में लाना चाहते अण्णा जी ? कोई बताएगा ?

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Dec 5, 2011

विद्यापति स्मृति पर्व समारोहक झलक एहि ठाम देखू !!!




विद्यापति स्मृति पर्व समारोहक किछु झलक हम अहाँ लोकनि के समक्ष प्रस्तुत करय जा रहल छि ! आई दिल्ली के जैतपुर गाँव के एन.टी.पी.सी. मैदान में रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कयल गेल !

समारोह में उपस्थित मैथिलि संगीत के जानल मानल चर्चित चेहरा छल जाही में किछु गायक के हम चीन्हलौंह जेना की सोनी झा, अशोक चंचल,आमोद जी, मंडल जी अओर आकाशवाणी के किछु चर्चित नाम छल !

मैथिलि गीत सुनि कय हमरा लोकनि के मन गद-गद भय गेल ! किछु गीत जे सुन्लौह से अहि ठाम सुना रहल छि :- मिथिला के महिमा सुनावैत छि किये ता हम मैथिल छि -------आ ----- गे बहिना कोना का कटवय सावन राति अन्हरिया में पिया भेल नोकरिया में ना !! अहि तरहे कतेको रास गीत के मजा उठेलौह !

मंच के संचालन कर्ता छलाह बौआ जी, हुनकर जतेक प्रशंसा कयल जाय कम परत ! लोग के खूब गुदगुदेलाह अपन चुटकिला बात सँ ! जा धरि इ गीत संगीत के कार्यकर्म चलैति रहलई, बुझायल जेना गामहि में छि !


धन्यबादक पात्र छैथि विद्यापति स्मृति पर्व के आयोजन कयनिहार आ वो सभटा कार्यकर्त्ता लोकनि जिनकर प्रयास सार्थक भेल ! अहिना समय समय पर मैथिलि आ मिथिला के सबहक बिच में लाबक प्रयास करैत रहबाक चाहि ! एहन मिठ्गर भाषा आऔर कतौ नै ऐछि !


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें
"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से ! सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Nov 30, 2011

लालच बुरी बला !!


प्रतिस्पर्धा के इस दौर में लोगों में जल्द से जल्द आगे निकल जाने की होड़ लगी हुई है ! वर्तमान युग में प्रत्येक व्यक्ति रातों-रात करोडपति बनने का छोटा सा रास्ता तलासते नजर आते है ! जिसके कारण जालसाज के गिरफ्त में फंस कर अपनी जिन्दगी भर की गाढ़ी कमाई को लालच में गँवा बैठते है !

अगर कोई आप से कहे की 50000 /- रूपया का निवेश करो और इसके बदले तिन साल में सौ गुना से भी ज्यादा मुनाफा देंगे, क्योंकि यह निवेश सोने के लिए हम दो लाख के लिए करेंगे ! तो क्या लगता है की वो जो बात कह रहे है ,उसपर विचार करने लायक है या नहीं ?

क्या कोई भी चिट फंड कम्पनी इतनी भारी मुनाफा दे सकता है ? आखिर कंपनी का भविष्य में योजना क्या है ? कोई कंपनी सौ गुना मुनाफा सिर्फ तिन साल में किस आधार पर बाँट रही है ? यह जरुर विचार योग्य प्रश्न है ! खुली आँख से निर्णय लेने का प्रश्न है !

कम्पनी कोई डाकू है,चोर है, या कोई स्मेक ,हिरोइन का व्यापारी तो नहीं फिर जरुर तस्कर हो सकते है ! और अगर ऐसा कुछ भी नहीं है तो हमें बेब्कुफ़ बना रहे है और ऐसे जालसाज से दूर ही बेहतर है |

जयपुर आजकल सुर्ख़ियों में है | एक नहीं दो नहीं कई कम्पनी लोगों के बिच में बड़े बड़े मुनाफा देने का वादा करके वहां से नेट्वोर्किंग के जरिये लाखों , करोड़ों नहीं अरबों रुपये लेकर फरार हो गई है | महज तीन साल में रकम को सौ गुना करने का लालच देकर गोल्ड सुख ट्रेड इंडिया लिमिटेड नाम की कंपनी ने करीब डेढ़ लाख लोगों को करोड़ों की चपत लगाई।


बड़े-बड़े ख्वाब दिखाकर कंपनी के निदेशक आम निवेशकों के 3 अरब रुपये लेकर चंपत हो गए। गोल्ड सुख कंपनी की तरफ से एक स्कीम चलाई गई थी जिसमें एक रुपये की चीज को 27 गुना रिटर्न एक तय अवधि के अंदर देने का वादा किया था और इसके झांसे में आकर कई लोगों ने अपनी रकम जमा कराई।

जयपुर में ही एक और कंपनी का घोटाला का खुलासा हुआ ठीक गोल्ड सुख कंपनी के घोटाला के कुछ दिन बाद |
उसका भी नाम कुछ उनसे ही मिलता जुलता स्वर्णयुग कंपनी था जिसने 2.5 करोड़ ठगे, 1600 लोगों से लिए 15-15 हजार मोटा मुनाफा देने के नाम पर गोल्डयुग कंपनी ने सोलह सौ लोगों को ठगा। हर व्यक्ति से करीब पंद्रह हजार रूपए लिए गए और इन रूपयों के बदले सौ गुना से भी ज्यादा मुनाफा देने की बात कही गई लेकिन कंपनी ने बीच में अपने दफ्तर भी बदल लिए।

दोस्तों रातों रात करोडपति बनने वालो के लिए यह बहुत बड़ा सबक है ! सफलता का कोई छोटा रास्ता नहीं होता मतलब no short cut for success. अगर सफलतम व्यक्ति के श्रेणी में अपने आपको देखना चाहते है तो एक छोटे स्तर से शुरू करना होगा ! जमीनी हकीकत से रूबरू होना होगा, मेहनत, लगन, आत्मविश्वास और सही समय पर सही दिशा में सही निर्णय लेने की कोशिस करनी होगी !


किसी भी कम्पनी में निवेश करने से पहले सोचे आखिर उनकी भविष्य योजना क्या है ? कम्पनी का पृष्ठभूमि और कितने साल से वो कार्यरत है ! आइये हमारे साथ वगैर कोई निवेश के जुड़े , आप पर निर्भर करता है की कितना कमाना चाहते है ? मात्र 25 /- रुपया में 15000 करोड़ के सालाना व्यवसाय करने वाली कम्पनी की हिस्सा बन सकते है !

फॉर एवर लिविंग प्रोडक्ट्स जो दुनिया में प्राकृतिक चित्क्त्सक उत्पाद के रूप में अपनी वर्चस्व कायम किये हुए है ! दुनिया में सर्वश्रेष्ठ एलोवेरा जेल के उत्पादक है ! इसके अलावा हमारे पास कब्ज़ से लेकर कैंसर तक के मरीजो के लिए जांचा परखा हुआ उत्पाद है ! जहाँ एलोपैथ काम नहीं करती वहां प्राकृतिक चिकत्सा बहुत ज्यादा प्रभावित करती है !
उज्जवल भविष्य, आर्थिक आजादी व निरोग जीवन जीने के लिए आइये जुड़े हमारे साथ !!

एक लाइन आप सब के लिए :-
" ना पूछो की मंजिल कहाँ है , अभी तो बस सफ़र का इरादा किया है !
ना हारेंगे हौसला उम्र भर, किसी और से नहीं ये खुद से वादा किया है"!!


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Nov 23, 2011

स्वास्थ्य का रहस्य संतुलित आहार व नियमित व्यायाम !


शोधों से साफ़ पता चला है कि ताजे फल ,अंकुरित अनाज, हरी सब्जियां ( सलाद ) एवं काष्ट्ज फल में विकाश ,वृद्धि एवं जीवन संचालन पूर्णता प्राप्त कर केवल रोग से ही रक्षा नहीं कि जा सकती बल्कि मन में प्रसन्नता, शरीर में शक्ति एवं आत्मा में आनन्द की अनुभूति के साथ यौन शक्ति उन्नत की जा सकती है !

ताजे फल यानि की अगर मौसमी फल का सेवन करें तो शरीर के लिए ज्यादा फायदा मिलता है !
काष्ट्ज फल यानि बादाम, काजू, मूंगफली इत्यादि किशमिश, अंजीर छुआरा भिगोकर ही सेवन करना चाहिए !

तांवे या चांदी के वर्तन में रात का रखा हुआ पानी चार गिलास तक प्रातः शौच जाने से पूर्व ही पीना चाहिए | इसका सेवन से व्यक्ति अनेकानेक रोगों से मुक्ति मिल सकता है ! तो वासी पानी तांवे के वर्तन के खूब पिए और जिन्दगी को रोगमुक्त करें ! इस तरह लगातार सेवन से आंतो की सफाई व कब्ज से छुटकारा मिलेगा ! मतलब उदर के किसी भी प्रकार के विकारों से स्थायी रूप से लाभ मिलेगा |


व्यायाम से शरीर में हलचल होती है जिससे ब्लड सुचारी रूप से पुरे शरीर दौड़ जाती है | व्यायाम हरेक प्रकार के शारीरिक समस्या में लाभदायक होता है | नियमित अभ्यास से शरीर की बेचैनी, अस्थिरता, आलस्य एवं मोटापा में कमी होती है |

विश्व में व्यायाम ही एक ऐसी प्रक्रिया है जिससे अन्तः-स्त्रावी ग्रन्थियों या हार्मोन बनाने वाली ग्रन्थियों को प्रभावित करती है | इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता , शांति, आनन्द एवं दीर्घायु प्राप्त होती है | इससे स्नायु दुर्बलता दूर हो जाती है एवं याददाश्त बढ़ जाती है | दूरदर्शिता, रचनात्मक सोच एवं समस्याओं को हल करने की कुशलता आ जाती है !


वर्तमान परिवेश यानि भागती दौड़ती जिन्दगी में अगर कुछ है जिससे आप स्वस्थ्य जीवन को जी सकते है तो वो है "एलोवेरा जेल" ! जिसके नियमित सेवन से आँतों की सफाई, शरीर के अन्दर "toxin " को बाहर कर देता है | आँतों की सफाई तो ऐसे हो जाता है जैसे की दीपावली में घर की सफाई होती है | फिर उसमे समाहित गुणों के भंडार शरीर को संचालन के लिए बेहद जरुरी है !

अतः एलोवेरा अगर दैनिक भोजन के सूचि में है तो परेशान होने की जरुरत नहीं वो सब कुछ आपके शरीर को मिलेगा जो शरीर को चाहिए !
याद रखें :- प्राकृतिक चिकत्सा एवं व्यायाम एक ही गाडी के दो पहिये है इनको छोड़कर अन्य कोई भी चिकत्सा पद्धति पूर्ण स्वास्थ्य प्रदान नहीं कर सकती !

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Nov 22, 2011

प्राकृतिक चिकत्सा सुखी जीवन का आधार !!



अगर आप बिमारी के वजह से निराश हो चुके है !
> अगर आपका रोग ठीक होने के वजाय बढ़ता जा रहा है !
> अगर आप दबाओं के साथ जीने को मजबूर है ! मतलब दबाये खा-खाकर तंग आ गए है !
> अगर ज्यादा दिनों से बीमारी के कारण निराशा बढ़ चुकी है !

तो आइये और तुरन्त प्राकृतिक चिकित्सा के साथ अपने जीवन को रोग मुक्त करें ! हमारे पास है दुनिया के प्रतिष्ठित एलोवेरा प्रोडक्ट्स जो ऐसी किसी भी प्रकार के बीमारी के लिए अचूक इलाज सवित हो रही है | ये आपके घर के लिए वैद्य की तरह काम करेगा | बस यूँ ही समझ लीजिये " एलोवेरा है जहाँ, तंदुरुस्ती है वहां " | पर एलोवेरा जेल भी ब्रांडेड ही होनी चाहिए न की कोई भी ले ले उसका कोई फायदा नहीं होगा |

बोतल पर जरुर देखें - सिल ऑफ़ अप्रूवल , जैसे international aloe science council ( IASC ) , Kosher Rating , Cruelty free, islamic seal of approval. आदि , ये सब प्रमाणिकता जेल के विश्वसनीयता को दर्शाती है |

मनुष्य प्राकृतिक चिकित्सा से स्वयं के डॉक्टर बन सकते है | छोटी छोटी बाते को अपने जीवन में अपनाकर जिन्दगी को सुखी बना सकते है |
प्राकृतिक चिकित्सा सिर्फ बीमार लोगों के लिए उपचार ही नहीं करती बल्कि जिन्दगी को सही मायने में जीने की कला भी सिखाती है |
इस चिकित्सा का फायदा यह भी है कि मनुष्य के रोग जड़ से समाप्त करता है और साथ में शरीर के अन्दर दुसरे विकार को भी पूरी तरह से निकाल देती है क्योंकि दबाएँ नहीं खानी पड़ती | प्राकृतिक चिकित्सा मनुष्य के लिए दोहरा कार्य करती है | पहला कार्य रोगी को जल्द से जल्द निरोग करता है, दूसरा कार्य भविष्य में रोग कि पुनरावृति न हो इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित भी करती है | असाध्य से असाध्य रोगी पर जहाँ दाबाईयां कोई सही असर नहीं कर रही हो, वहां प्राकृतिक चिकत्सा से इलाज सफल और संभव है |

जब सभी इलाज असफल हो जाते है तब भी प्राकृतिक चिकित्सा मनुष्य के प्राण व स्वास्थ्य बचा सकती है |
दबाईयां आखिरी इलाज होना चाहिए न की पहला | ( महात्मा गाँधी )

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Nov 13, 2011

स्वप्न को उड़ान भरने दे मंजिल जरुर मिलेगी !!!


रिएलिटी शो 'कौन बनेगा करोड़पति 5' के पञ्च कोटि महामणि यानि पांच करोड़ रुपये के विजेता सुशील कुमार दुनिया के प्रथम व्यक्ति बन गए हैं।
दरअसल उन्हें इतनी सुर्खियां व मान-सम्मान मिल रहा है कि वह खुद को खास महसूस कर रहे हैं।
लोकप्रिय गेम शो 'केबीसी 5' का विजेता बनकर सुशील बिहार के मोतिहारी स्थित अपने घर लौट गए हैं।

सुशील कुमार कहते हैं, मुझे चारों ओर से जो प्यार मिल रहा है वह इनाम राशि से कहीं ज्यादा बड़ा है। जब मैं अपने शहर मोतिहारी पहुंचा तो लगभग पूरा शहर ही मेरे स्वागत के लिए जमा था। "यह एक सपने जैसा है। यह ऐसे किसी भी सपने से बड़ा है जिसकी मैं कल्पना कर सकता हूं। मैं जानता हूं कि यह प्रसिद्धि चार दिन की चांदनी है। मैं चार दिन का शाहरुख खान हूं। यह सब कुछ चार दिन में खत्म हो जाएगा। इसके बाद मैं अपने सामन्य जीवन में लौट आऊंगा।"


बिहार के पटना के निवाशी अनिल सिन्हा जी दूसरा व्यक्ति जो की एक करोड़ के विजेता बने है | इस तरह बिहार से ही दोनों करोडपति विजेता बने है | हमारे लिए ये गर्व की बात है इन दोनों ने न केवल पटना व मोतिहारी बल्कि बिहार के नाम को दुनिया में रौशन कर दिया है | कौन बनेगा करोडपति 5 ' में अपनी वर्चस्व बनाने में कामयावी के लिए उन्हें हार्दिक बधाई व शुभकामना देते है | दोनों विजेता के लिए ये दो लाइन है :-

" मुश्किलों से भाग जाना आसान होता है, हर पहलु जिन्दगी का इम्तेहान होता है डरने वालो को मिलता नहीं कुछ जिन्दगी में,लड़ने वालो के कदमो में जहाँ होता है" !!


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Nov 7, 2011

खुशखबरी !! विश्व प्रसिद्द ऍफ़.एल.पी एलोवेरा अब बिहार के पटना में मिलेगी !!














जिसका मुझे था इंतज़ार, जिसके लिए दिल था बेकरार !!
वो घडी आ गई, आ गई , आ ...................................... !!!!
जी मैं आज कोई गाना नहीं गाने वाला हूँ | दरअसल बात ही कुछ ऐसी ही की बस गुनगुनाने का दिल कर रहा है | यह बहुत ही बड़ी खबर है | मेरे जैसे कई लोगों का यह बहुत बड़ा सौभाग्य की बात है | आज जब से नेट के माध्यम से पता चला की पटना में 11 Nov. दिन शुक्रवार को फॉरएवर लिविंग प्रोडक्ट्स का अपना प्रोडक्ट्स सेंटर खुलने जा रही है, मन के अन्दर खुशियाँ हिचकोले लेने लगे है | आज प्रतीत हो रहा है जैसे नए उर्जा का मन में संचार हो गया हो |

अब जो डिस्ट्रीब्यूटर्स प्रोडक्ट्स खरीदने के लिए दिल्ली के तरफ आने से परहेज करते थे दरअसल वो भी जम के खरीददारी कर पायेंगे | इस सन्दर्भ में अब तक कई लोगों से मेरी बात हो चुकी है, सब के सब बहुत ज्यादा उत्साहित नजर आ रहे है |
उनके जुवान से बस एक ही शब्द निकलता है शुक्रगुजार है हम ऍफ़.एल.पी दिल्ली वालों का जिन्होंने हम लोगों पर भरोसा किया और अब हमारी वारी है उन्हें निराश तो बिलकुल नहीं करेंगे|पर उनके कसौटी पर जरुर खरा उतरने का प्रयास करेंगे |

दरअसल बिहार एक बहुत बड़ा राज्य है | लोग गाँव गाँव से यहाँ सेमिनार देखने के लिए आते थे | देखकर बहुत ज्यादा साकारात्मक सोच के साथ वो अपने अपने घर को जाते और सिर्फ वही सवाल होता की प्रोडक्ट्स हमें कहाँ और कितने दिनों में मिल जायेगा | जबाब में थोडा हम अटक जाते थे क्योंकि दिल्ली से प्रोडक्ट्स की खरीददारी फिर कोरियर या ट्रेन से भेजना न सिर्फ उनके लिए कई बार हमारे लिए भी कठिन लगता था | पर अब हम सिर्फ और सिर्फ अपने काम पर ध्यान देंगे | जिससे की हमारी कार्य करने की क्षमता बढ़ेगी | प्रयास में लगे हमारे बिहार के लीडर व ऍफ़.एल.पी स्टाफ को हार्दिक अभिनन्दन व धन्यबाद !

परिश्रम का कोई विकल्प नहीं होता है | अतः हमें सिर्फ अपना कर्म करते रहना चाहिए बाकि परिणाम परिश्रम के मुताबिक अवश्य मिल जाएगी | विश्व प्रसिद्द एलोवेरा जेल जिसका कोई विकल्प बाजार में उपलब्ध नहीं है | सिर्फ हमारे पास है यानि की फॉरएवर लिविंग प्रोडक्ट्स के पास | अमृत तुल्य यह प्रोडक्ट्स आपके लिए वाकई अमृत है , बस इनके गुणों के बारे में बारीकी से समझने का प्रयास करे |

ऍफ़.एल.पी ने हमारे लिए पहले ही 85% काम कर दिया है , एक अतुल्य , उच्च गुणों वाली एलो वेरा जेल, मधुमक्खी के द्वारा व अलग अलग जड़ी बूटियों से तैयार किया गया उत्पाद के माध्यम से | बस हमें उनके बारे में ध्यान से समझना है, जो की मात्र 15% काम है |



अगर कोई व्यक्ति उस उत्पाद के बारे में जानकारी ले ले तो निश्चित ही वो जिन्दगी में कभी असफल नहीं हो सकते है | सेहत के साथ-साथ आर्थिक आजादी उन्हें जरुर मिलेगी |
बस लगातार प्रयासरत रहने की आवश्यकता है |

अंत में इसके लिए हम इश्वर का धन्यबाद करते है और साथ में धन्यबाद करते है फॉरएवर लिविंग प्रोडक्ट्स का जिन्होंने हमारी बात सुनी और बिहार राज्य के पटना में ऍफ़.एल.पी ऑफिस खोलने का निश्चय किया |


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841।or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Oct 17, 2011

फील्ड्स ऑफ़ ग्रीन्स ( पौष्टिकता से भरपूर )

दादी माँ के स्वास्थ्य सम्बंधित नुस्खे गलत नहीं हो सकते | वे हमेशा कहती थी की अच्छे स्वास्थ्य के लिए हरी-पत्तेदार सब्जियां खाना जरुरी है |और अब आहार सम्बंधित जानकारी रखने वाले इस बात की पुष्टि भी करते है - हरी-पत्तेदार सब्जियां बहुत से बेशकीमती तथा आवश्यक पोषक तत्वों का स्त्रोत है |

चाहे आप बढ़ते हुए वजन से परेशान है, उसे आप नियंत्रण करना चाहते है, या ह्रदय सम्बंधित समस्या से जूझ रहे है , हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन अति-उत्तम है क्योंकि इनमे पोषक तंतु, फौलिक एसिड,विटामिन-सी,पोटाशियम, मैग्नेशियम अत्यधिक होने के साथ-साथ प्रचुर मात्र में फाइटोकैमिकल, जैसे की ल्यूटिन, जिजेंथिन तथा बीटा-कैरोटिन ( ये तीनों मैक्यूलर हेल्थ के लिए लाभदायक है ) होते है | इनमे चर्बी और कैलोरीज कम होती है और अधिक मात्र में मैग्नेशियम तत्व तथा नीची ग्लाइसिमिक इंडेक्स होने से उन लोगों के लिए भी उत्तम आहार है जो मधुमेह ( डाईबेटिज ) से पीड़ित है |


वर्तमान समय में ज्यादातर आहारों में भरपूर मात्रा में कीटनाशक, कृमिनाशक, एडेटिब्स, स्वाद बढ़ाने वाले रसायन मिलाये जाते है जिससे हम आशवस्त नहीं हो पाते है की क्या हमें पर्याप्त मात्र में एंटीओक्सिडेंट तथा क्लोरोफिल मिल रहे है, जिसके सेवन से हम चिंतामुक्त हो सकते ? अब आपको इधर-उधर भागने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि फॉरएवर लिविंग प्रोडक्ट्स आपके लिए प्रस्तुत करते है " फील्ड्स ऑफ़ ग्रीन्स" जो सुखमय भोजन का सुगम उपाय है |

विशेषरूप से यह उत्पाद पोषक तत्वों की कमी को दूर करने के उद्देश्य से ही बनाया गया है | " फील्ड्स ऑफ़ ग्रीन्स" में मिश्रित है यंग बार्ली,वीट ग्रास,अल्फ़ा-अल्फ़ा तथा काइन पैपर ( young barley grass, wheat grass, alfaalfa and cayenne pepper) और यह स्वास्थ्य तथा शक्ति बढ़ाएं इसलिए इसे शहद से मजबूत किया गया है |

बार्ली ग्रास( BARLEY GRASS )- ऐसा कहा गया है-बार्ली ग्रास में गाय के दूध के मुकाबले तिस गुना बी-1 तथा 11 गुना कैल्शियम होता है | इसमें प्रचुर मात्रा में प्राकृतिक एंजायम होता है जो शरीर को विधिवत रखने के लिए आवश्यक है | एक और अद्धभुत पोषक तत्व है 'क्लोरोफिल' जो एक प्राकृतिक तरीके से आँतों में जमे विषैले तत्वों से छुटकारा दिलाता है | मानव शरीर के लिए खून की महत्व है वैसे ही पेड़-पौधों के लिए क्लोरोफिल आवश्यक है | बार्ली ग्रास में मौजूद बहुत अधिक घुलनशील व अघुलनशील फाइबर के कारण अनचाहे तत्वों को शरीर से बाहर कर सकता है |

वीट ग्रास ( WHEAT GRASS )- बार्ली ग्रास की तरह इसमें भी प्राकृतिक पोषक तत्वों का सर्वशक्तिशाली स्त्रोत है और इसमें भरपूर मात्रा में क्लोरोफिल पाए जाते है | वीट ग्रास के रस को सम्पूर्ण भोजन माना गया है | इसमें भोजन पचाने की क्षमता है और यह मेटाबोलिज्म को बढाता है और इसमें समाहित एंटी-ओक्सिडेंट ख़राब हुई कोशिकाओं की मरम्मत कर मुरझाई हुई त्वचा को नवजीवन प्रदान करती है |

अल्फाल्फा (ALFALFA)- जिसका अर्थ है "सभी भोजनों का पितामह" | अल्फाल्फा की खोज कई हजार वर्ष पहले अरब लोगों ने की | उन्होंने शरुआत में अपने घोड़ो को सेवन कराया तो पाया की पहले से तेज व मजबूत बन गए फिर अपने भोजन में भी इस ग्रास को सम्मलित किया और शारीरिक पौष्ट्ता में अंतर पाया | इस ग्रास के गुणों व शारीरिक फायदा देखकर ही इनका नाम अल्फाल्फा रखा |

अल्फ़ाअल्फ़ा के फायदे क्या है? इसमें आठ जरुरी अमीनो एसिड है जो प्रोटीन्स की आधारशिला है | इसमें बड़ी मात्र में खनिज,जैसे की कैल्शियम,मैग्नेशियम,पोटाशियम,लोह तथा जिंक है | और इन सबसे ऊपर यह क्लोरोफिल का एक अच्छा स्त्रोत है |जड़ी-बूटी विशेषग्य इसे अच्छे टॉनिक की संज्ञा देते है | जिसमे समाहित है विटामिन, खनिज तथा प्रोटीन्स | ऐसा जाना गया है की अल्फाल्फा की जड़ें जमीं में 130 फुट तक जाती है तथा जमीन में मौजूद सर्वोत्तम खनिजों की खोज-बिन करती है |


काइन पैपर ( CAYENNE PAPPER )- ( तेज लाल मिर्च ) - हमारी रक्त प्रवाह की क्रिया के लिए यह जड़ी-बूटी उत्तम आहार का काम करती है और यह जाना गया है की यह धमनी, नसों तथा कोशिकाओं की बनावट में आवश्यक योगदान देती है | काइन में गर्मी पैदा करने वाले तत्व शरीर में प्राकृतिक ताप पैदा करते है और आत्मसात, तथा मल बाहर निकालने के साथ-साथ आँतों की क्रिया में भी सहायक होते है | काइन पैपर सभी जड़ी-बूटियों के लिए उत्प्रेरक के रूप में भी जाना जाता है |

इन चार आधारभूत तत्वों का मिश्रण "फील्ड्स ऑफ़ ग्रीन्स" को बाजार में सबसे प्रचलित न्यूट्रीशनल सप्लीमेंट बनाता है | तो हमें दिन में कितनी लेनी चाहिए ? इनकी कोई मात्र निश्चित नहीं है और यह इस पर निर्भर करता है कि आप कितना फायदा चाहते है | हाँ , एक व्यस्क के लिए हम दो से तिन गोलियां रोज खाने की सलाह देते है |


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें
"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Oct 11, 2011

जापानी बुखार का आतंक - इनसेफेलाईटीस !!


वर्तमान परिदृश्य में यह बुखार बच्चों के लिए साक्षात् काल के सामान है | ज्यादातर यह बीमारी गाँव के बच्चों को संक्रमित कर रही है | जहाँ जनसुविधा का आभाव है | जहाँ तहां पानी के बहाव है | बच्चे को कीचड़ और पानी के साथ खेलना अच्छा लगता है | गंदगी और जमा हुआ पानी में मच्छरों के जमाबरा होता है | और उसी में आतंकी मच्छर कभी किसी बच्चों को अपना शिकार बना लेती है |

आजकल उत्तर प्रदेश के कई जिला इस बिमारी के प्रकोप से त्रस्त है | गोरखपुर, कुशीनगर,देवरिया,संत कबीर, बस्ती,सिद्धार्थ नगर इत्यादि ज्यादा प्रभावित है | 1978 से शुरू हुई यह बीमारी, करीब 33 साल होने जा रही है और अनुमानतः अपने देश के कई राज्य में बच्चों के लिए यमराज के रूप में आती है और अपने साथ इलाका के इलाका उठा ले जाती है | एक अनुमान के अनुसार आजतक करीब 50,000 बच्चों की जान ले चुकी है |

यह इतना खतरनाक है की 30 प्रतिशत बच्चे ही इस बीमारी से बच पा रहे है , और जो अगर बच भी जाते है तो इसे अपाहिज बना दिया जाता है | मतलब साफ़ है की अगर कोई बच्चा इस बीमारी के चपेट में आता है , फिर या तो काल के ग्रास बन जाते है नहीं तो जीवन भर बिकलांग बन कर जीते है | पिछले कुछ दिन समाचार में सुनने आया की यह बुखार दिल्ली में भी दस्तक दे दी है और कुछ बच्चे यहाँ भी मारे जा चुके है |

देश के लिए सबसे बड़ा खतरा बन चुकी जापानी बिमारी का कोई ठोस इलाज़ आजतक नहीं है | जिस बिमारी से लोग 33 साल से जूझ रही है , प्रत्येक साल यह कहीं न कहीं अपनी उपस्थिति दर्ज कराती रहती है और गाँव के गाँव अपने आगोश में लेकर चली जाती है - क्या इसके बारे में हम , आप और हमारी सरकार को सोचने की जरुरत नहीं है ?

हम अक्सर कैंसर, सुगर हार्ट प्रॉब्लम पर बड़ी बड़ी बाते और दावे करते रहते है | क्या यह किसी कैंसर से कम है ? हमें जागने की जरुरत है और सरकार को भी इस बीमारी को रोकने के लिए समुचित प्रयास करनी चाहिए |

जापान, ताइवान, चीन,हांगकांग और सिंगापूर में यह बीमारी बरी तेजी के साथ फैली थी परन्तु वहां की सरकार और चिकिस्तक के सार्थक प्रयास से इस पर काबू कर लिया गया है |

एक बार यहाँ तक की जापान से इसका वेक्सिन मंगवाया गया था | परन्तु जानकर बड़ा दुःख होगा की कोई सात लाख वेक्सिन में से पाँच लाख ख़राब पाए गए थे | मतलब उसकी एक्सपाइरी डेट खत्म हो गई थी | यह है सरकार की व्यवस्था ! इस बारे में कोई ठोस कदम उठाने की जरुरत है |
बच्चे हमारे देश के भविष्य है - जरुर ख्याल रखें !!!

एक बार जरुर कहना चाहूँगा - एलोवेरा का उत्पाद जरुर बच्चों को दे ताकि ऐसे वैसे बीमारी की ऐसी तैसी | आपके बच्चे की इम्यून सिस्टम हमेशा दुरुस्त रहेगी कोई भी बीमारी उसे छूने से पहले ही भाग जाएगी | एलोवेरा का बिट'स न पिचेज हमेशा अपने घर में रखे | यह आपके घर का वैद्य के रूप में काम करेगा |


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Jul 8, 2011

मंजिले क्या है रास्ते क्या है , हौसला हो तो फासले क्या है ? ! जुड़िये हमारे साथ !!



कुछ दिनों से काफी व्यस्त कार्यक्रम रहा | प्राइवेट कम्पनी के बारे में तो आप जानते ही है जितना बड़ा पद होगा उतना ही बड़ा टेंसन | एक तो जॉब आजकल मिलना कोई आसन काम नहीं है और अगर मिल भी गए तो निरंतर बने रहेंगे इसकी कोई समय सीमा नहीं होती है | न जाने कब किस बात पर आपका बोस के साथ तालमेल में कमी हो जाय और वो बाय-बाय कर दे या खुद आपको करना पड़े |

ऐसे लोगों से हिंदुस्तान भरी हुई है जिनके पास शैक्षणिक योग्यता है पर वो बेकार है | वो बस जीवन को आगे की और धक्का मात्र दे रहा है |अगर आप में पैसा कमाने का जूनून है , इच्छा शक्ति है ,मेहनत कर सकते है तो आइये जुड़िये हमारे साथ और जीवन को एक सही दिशा दीजिये और अपनी दशा को सुधारिए | अपनी नजरिया को बदल डालिए बाकि आपके नज़ारे और किश्मत के सितारे बदल जायेंगे | भीड़ का हिस्सा न बनकर अपनी अलग पहचान बनाइये | वो कहते है न " मंजिल तो मिल ही जायेगी एक दिन चाहे भटक ही सही, गुमराह तो वो लोग है जो घर से निकलते ही नहीं " |

आइये चाचा करते है किस तरह से हम अपनी सही दिश में कार्य करके दशा को बदल सकते है :-
मैं आज दुनिया के मशहूर कम्पनी के बारे में बताना चाहूँगा जो एलोवेरा उत्पाद में सबसे प्रमुख कम्पनी है |
दुनिया में 3000 कम्पनी में अकेली ये कम्पनी है जिसका बाजार में 85 प्रतिशत भागीदारी है | कम्पनी की शुरुआत 1978 में तिन प्रोडक्ट के साथ हुई थी आज लगभग 200 प्रोडक्ट है | भारत में कम्पनी सन 2000 में आई थी | कम्पनी का मुख्यालय एरिजोना अमेरिका में है | कम्पनी के सभी उत्पाद प्राकृतिक है किसी भी प्रोडक्ट का कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है और किसी भी उम्र के लोग इसका सेवन कर सकते है |
> कमपनी को (IDSA ) इंडियन डायरेक्ट सेलिंग एसोसिएसन से मान्यता प्राप्त है |
> इससे दुनिया का सबसे बड़ी सुरक्षा गारन्टी ( KOSHER RATING ) मिली है |
> इंटरनेशनल एलो साइंस कौंसिल( IASC )तथा इंटरनेशनल इस्लामिक सिल ऑफ़ अप्रुबल से भी मान्यता प्राप्त है |
> कम्पनी हैल्थ के अलावा ब्यूटी व न्यूट्रीसन में काम करती है |
> आज लगभग 33 साल कम्पनी को होने वाली परन्तु दुनिया के किसी भी देश में कम्पनी के खिलाफ किसी भी प्रकार के केस हमारे सामने नहीं आया है | जापान दुनिया का सबसे बड़ा हैल्थ कौंशियस कन्ट्री है और वहां हमारी सेल सबसे ज्यादा है | कम्पनी पहले 22 साल पुरे यूरोप में तहलका करने के बाद हिंदुस्तान में आई है | यहाँ भी 11 साल में 63 प्रतिशत सालाना के हिसाब से सेल में विरिधि हुई है |
> आप जानते ही होंगे की पिछले 33 साल में दो बार पुरे विश्व में मंदी का दौर आया है | यह अपने आप में गर्व का विषय है की अमेरिका यह अमेरिका की उन कम्पनियों में शामिल है जिनको मंदी का कोई प्रभाव नहीं पड़ा है ,जबकि बड़ी बड़ी कम्पनियां गायब हो गई |
>वर्तमान में इस कम्पनी की विश्वव्यापी सेल लगभग 13 हजार करोड़ रुपये की है |
आइये फिर कम्पनी के प्लान के बारे में बताते है :-
> क्या आप सपने देखते है -
* आपके पास एक अच्छी सी कर हो ?
* आपके पास अपना एक नया घर हो ?
* आप अपने बच्चों के साथ प्रत्येक वर्ष अपनी मनपसंद जगह पर घुमने जाएँ ?
* आप विश्व भ्रमण पर जाए ?
* आपका भविष्य सुरक्षित हो?
* या और कोई सपना जो आप देखते है ?
यदि वाकई ये आपका सपना है :-
तब हम आपको अपने सपनो को पूरा करने की जानकारी देते है जो पूरी इमानदारी व पवित्रता से भरा है | कम्पनी उस व्यक्ति को मौका देती है जिसमे लगन म्हणत व इमानदारी है तथा जिसमे कुछ कर गुजरने की आग है |

इस कम्पनी की मार्केटिंग प्लान की विशेषताएं औरों से बहुत ज्यादा भिन्न है जो निम्नलिखित है :-
* कम्पनी के साथ जुड़ने के लिए आपको कुछ भी नहीं खर्च करना पड़ेगा तथा आपका बोनस कम्पनी सीधे आपको ही देगा |
* हमारे यहाँ कोई भी लेबल एक ही बार प्राप्त करना होता है | एक बार जो लेबल एक बार प्राप्त कर लेंगे उससे निचे कभी नहीं जायेंगे |
* आपको अपना लेबल प्राप्त करने के लिए कम्पनी लगातार दो कैलेण्डर महीनो का वक़्त देती है , जो आप जीवन में कभी कर सकते है , किसी भी लगातार दो महीनो में कोई भी लेबल प्राप्त कर सकते है |
* कम्पनी के तरफ से कोई भी ऐसा बंधन नहीं है की आपको यह तो खरीदना ही पड़ेगा | आप जो चाहते है केवल वही खरीदिये
* कम्पनी रिटेल सेल पर आपको लाभ कमाने का अवसर देती है |
* कम्पनी आपको बोनस MRP ( लोकल टैक्स कट कर ) पर देती है | दुनिया में कहीं भी ऐसा नहीं होता है की आप माल खरीदें एक लाख का तथा कम्पनी आपको बोनस दे सवा लाख पर |
* कम्पनी के साथ जुड़ने के लिए आपको केवल एक फ़ार्म भरना होता है जिसका मूल्य 25 /- रुपये है , कम्पनी को आपका पैन नंबर , आपका फोटो व आपके पते की फोटो कोपी चाहिए |

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

May 8, 2011

नपुंसकता - ( समाधान एलोवेरा उत्पाद से )



नपुंसकता की समस्या आधुनिक युग में तेजी से वृद्धि हो रही है | इसका अर्थ है व्यक्ति सामान्य यौन सम्बन्ध नहीं बना पाना ,अगर बनाता भी है तो इतने अल्प समय के लिए की वह सम्भोग सम्पन्न नहीं कर सकता | समय से पहले स्खलन या स्खलन में असमर्थता भी इसके लक्ष्ण है | ऐसे पुरुष संतान उत्पति करने लायक नहीं होते है | यदि दम्पति संतान हीन हो तो, पति- पत्नी दोनों का ही जांच होना आवश्यक है | जिससे समस्या का पता लगने पर सही निदान किया जा सके | अक्सर संतान न होने का दोषारोपण ज्यादातर महिला पर ही लगाया जाता है, जबकि यह धारणा बिलकुल बेबुनियाद है इसके लिए पुरुष भी बराबर रूप से जिम्मेदार हो सकते है |

शोधों से पता चला है की लगभग 10 प्रतिशत दम्पति निःसंतान होते है | इनमे से तक़रीबन 50 प्रतिशत महिलाएं और 40 प्रतिशत पुरुष भी जिम्मेदार होते है | 10 प्रतिशत दोनों ही जिम्मेदार होते है | प्रत्येक दम्पति की चाहत देर सवेर संतान की होती है और इच्छा होती है उनके घर भी बच्चों की किलकारियों से गुंजायमान हो जाये | यदि संतान की चाहत रहने पर भी संतान नहीं हो तो वे दुखी व परेशान रहने लगते है | प्रन्तुं एक दुसरे पर दोषारोपण करने से कुछ समाधान नहीं निकलता है | उचित चिकित्सक से परामर्श लेकर जाँच परिक्षण के बाद इलाज करना चाहिए |

अक्सर लोग इस कारण ओझा, तांत्रिक व बाबाओं के चक्कर में पर जाते है जिससे निराशा के अलावा कुछ नहीं हाथ आता है | जबकि उचित इलाज से संतानहीन दम्पति के घर भी खुशियाँ आ सकती है | इसके समाधान से पहले आइये इसके कारण पर रौशनी डाल लेते है |

पिछले दशक में पुरुषों के प्रजनन क्षमता की प्रक्रिया के बारे में जानकारी में तेजी से विकाश हुआ है | आइये जानते है - पुरुषों में नपुंसकता के प्रमुख कारण :-
पुरुषों में नपुंसकता के कारण अनेक प्रकार के रोग भी हो सकते है | अन्तः-स्त्रावी ग्रन्थि से हार्मोन स्त्राव में बदलाव के कारण नपुंसकता हो सकती है | शरीर के स्वस्थ्य रखने, सामान्य प्रक्रियाओं और वीर्य एवं शुक्राणु की सामान्य संरचना और उनकी कार्यक्षमता के लिए अनेक प्रकार के हार्मोन का योगदान होता है |
पिट्यूटरी , थायराइड, एड्रिनल ग्रन्थि के हार्मोन स्त्राव में असंतुलन व मधुमेह रोगीओं, पुरुषत्व हार्मोन ( टेस्टस्टेरान ) के कम स्त्राव के कारण नापुन्क्सकता हो सकती है |

शुक्राशय पेट के अन्दर ही शुक्राणु का निर्माण ( टेस्टीज ) होता है और जन्म से कुछ समय पूर्व या एक वर्ष की आयु के लगभग यह पेट से निचे उतरता है | शुक्राणु के निर्मान के लिए कम तापमान की जरुरत होती है इसलिए यह अंडकोष में मौजूद होता है | वीर्य में शुक्राणु का का अंश लगभग 10 प्रतिशत होता है | शुक्राणु में फिर सहायक प्रजनन ग्रन्थि-प्रोस्टेट, सेमाइनल वेसिकल, कपूर ग्रन्थि के स्त्राव मिलकर वीर्य का निर्माण करते है | इन सहायक ग्रन्थि का स्वरूप और इसके स्त्राव का सामान्य होना भी जरुरी है, क्योंकि यह स्त्राव शुक्राणुओं को सक्रीय रखता है , पोषक तत्व प्रदान करता है , अन्डो के मिलन में सहायक सिद्ध होता है |

वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या तक़रीबन 10 से 20 करोड़ प्रति मिली. होती है | शुक्राणु की वीर्य में विशिष्ट चाल होती है | यदि वीर्य की संख्या सामान्य नहीं है तो भी नपुंसकता आ सकती है | वैसे तो वर्त्तमान में सेक्स के प्रति अरुचि और इसीसे बढ़ते नपुंसकता में जीवन शैली ही सबसे प्रमुख कारणों में से एक है | तनाव ग्रस्त जीवन- थकान, हताश, निराश , किसी अन्य कार्य में ध्यान , घबराहट या मनोवैज्ञानिक सदमा इत्यादि किसी न किसी रूप से व्यक्ति परेशान रहता है | सेक्स जीवन सबसे सुखद अनुभूति में से एक है | स्वस्थ्य जीवन के लिए सेक्स लाइफ स्वस्थ्य होना आवश्यक है | मानसिक परेशानी हो या शारीरिक परेशानी सेक्स जीवन अगर सुखी है तो बहुत कुछ अपने आप स्वस्थ्य हो जाता है |

आज के जीवन शैली का असर यह होता है की शरीर में फ्री रेडिकल का उत्पाद बहुत तेजी से होता है | यदि इनकी मात्रा शरीर में या शुक्राणुओं में बढ़ जाती है तो शुक्राणु क्षतिग्रस्त होने से नपुंसकता आ सकती है | फ्री रेडिकल की मात्रा को शरीर में नियंत्रित करने के लिए अनेक प्रक्रियाएं मौजूद होती है | इनको एंटी-ओक्सिडेंट कहा जाता है | इस प्रकार भोजन में अनेक एंटी-ओक्सिडेंट मौजूद होते है जैसे की विटामिन-'इ ',खनिज लावन इत्यादि | स्वस्थ्य जीवन के लिए फ्री रेडिकल और एंटी-ओक्सिडेंट में संतुलन होना चाहिए | एंटी-ओक्सिडेंट एंजायम की कमी के कारण शुक्राणु कमजोर हो जाते है |

आयुर्वेदिक उपचार व एंटी-ओक्सिडेंट औषधियों के द्वारा नपुंसक पुरुष को स्वस्थ्य किया जाता है |
जिस प्रकार मनुष्य में वीर्य होता है उसी प्रकार वृक्षों में भी उपस्थिति मिलती है | यह वीर्य 'गोंद' के रूप में होता है | जैसे- छुहारे का गोंद, कीकर का गोंद ,बरगद का गोंद इत्यादि | इनका प्रयोग कर शुक्राणु निर्माण एवं उनकी सक्रियता को बढाई जा सकती है | छुहारे का गोंद 10 ग्राम लेकर रात को पानी में भिंगोकर सुबह औटाये हुए गर्म मीठे दूध में मिलकर लगातार 40 दिनों तक सेवन से शुक्राणुओं का निर्माण, सबलता व सक्रियता बढ़ेगी |

कुछ उत्पाद निचे दिए जा रहे है जिसके मदद से शारीरिक शक्ति पुनः पा सकते है :-
1 Aoevera Gel
2Royal Jelly
3 Gin-Chia
4. Pomestin Power
5. Ginkgo Plus

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

May 1, 2011

शराब के आदि जीवन की बर्बादी !

नशा करने वाला अपनी आदत से मजबूर एक बीमार होता है , वह कोई अपराधी नहीं , एक मरीज है | शराब तो कोई विरले ही पीता है ज्यादातर लोगों को तो शराब ही पी जाती है | शराब पीना आदत नहीं, यह तो एक प्रकार की बीमारी है | शराब शरीर और आत्मा को अपने वश में करके इन्सान के दिलोदिमाग का संतुलन ख़राब कर देती है | उसमे पशुता की भावना आ जाती है इसके बाद कई बार तो ऐसा कदम उठा लेते है जो बाद में सिवाय पश्चाताप का कुछ भी नहीं मिलता |

शरीर में तरह-तरह की कमजोरियां एवं जानलेवा बीमारियाँ को घर कर सारी सेहत तंदुरुस्ती चौपट हो जाती है | उनके घर परिवार में रोजाना क्लेश , झगड़ा व लड़ाई
होता ही रहता है जिससे परिवार की सुख-शांति व समृद्धि दिनानुदिन खत्म होकर घर नर्क सामान बन जाता है | नशा करने वाले के शरीर में बिषैले कोशाणु तैयार हो जाते है जिनके ख़राब प्रभाव के कारण अनेकों बीमारियाँ हो जाती है |


"खूब जमेंगी रंग जब हम मिल बैठेंगे तिन यार मैं ,तुम और मेरा शराब " - ऐसा वो लोग प्रचार- प्रसार करते नजर आते है जो देश के चर्चित चेहरा है जिसे देखकर लोग अपने जीवन शैली बदलने का प्रयास करते है | चंद पैसों के लिए वो ईमान को बेच डाला है , अपनी जमीर बेच डाला है | उन्हें ऐसा कुछ खुलेआम लोगों को उकसाने के लिए जरा सी भी शर्म नहीं आती |

कुछ हद तक जिम्मेदार ऐसे सेलेब्रेटी तो है,जिन्हें नहीं मालूम की नशे के कारण कितने घरों की जेवर बिके, कितने घर एवं जमीन बिके,कितने घर उजड़े , कितने अपराध के दलदल में फंस गए और कितने ही असमय काल के ग्रास बन गए | इन सब का ठीक-ठीक से हिसाब लगाना लगभग कठिन है |

हमारे देश की कानून शराबी और नशाखोरों को कुछ भी नहीं बिगाड़ सकती है | कोई ठोस कानून नहीं है ,कानून के रक्षक की बात करें तो वो खुद भी सूर्यास्त होते होते नशे में मस्त हो जाते है | इन कानून के रखवालों से किया उम्मीद की जा सकती है | जो खुद लड़खड़ा रही हो वो किसी और को क्या खाक संभालेगा | यहाँ बात की जाय शराब रोकने के लिए तो हमारे अपने प्रान्त बिहार में अब तो पंचायत स्तर पर शराब की दुकान की लाइसेंस खुद सरकार की ओर से दी जा रही है | हालात यह हो गया है की कम उम्र के ( नावालिक ) बच्चे भी अब सूरा पान करते चौक-चौराहे पर नजर आते है |

इसके पीछे सरकार की राजस्व के जरिये मोटी कमाई करने की मानसकिता है | परन्तु परिणाम से उन्हें कोई लेना देना नहीं है , क्या राजस्व के लिए सरकार गाँव गाँव में शराब के ठेके देकर गाँव वालों को भिखारी नहीं बना रही है | जिस उम्र में लोग अपने भविष्य के बारे में सोचते है , पढ़ाई-लिखाई के बारे में सोचते है आज वही नशे के हाल में सडक पर लुढके नजर आते है |


ऐसे में इस देश का भविष्य क्या होगा ? क्या इसी तरह से हम दुनिया के देशों में आर्थिक वर्चस्व कायम करेंगे ? भूख , गरीबी, लाचारी, बीमारी व अपराधी क्या घर बैठे रहेंगे | क्या वो हमारे देश की आने वाले सदी की शान होंगे ? जरा सोंचे !!!! नहीं तो बीमार लाचारी, और अपराधी किस्म के लोगों की तादाद इतनी हो जाएगी की देश को उन्हें फिर से सही रास्ते में लाने के लिए बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है |

अतः समय रहते सरकार को इसके लिए कोई ठोस कदम उठाने की जरुरत है | लेकिन इसके लिए हमें भी जागरूक होने की जरुरत है इसके बारे क्या गलत है , क्या सही इसकी जानकारी लोगों को देने की जरुरत है | अगर सार्थक प्रयास करते है तो निश्चित ही अपने मुल्क के सभी लोगों को नशा से मुक्ति दिलाकर उनको अच्छा स्वास्थ्य प्रदान किया जा सकता है |

हमारा सन्देश है नशे में डूबे हुए लोगों के लिए , समय रहते हुए सावधान हो जाये वर्ना गर्त में जाने से कोई नहीं बचा सकता है | मनुष्य जीवन एक अनमोल उपहार स्वरुप मिला है , उन्हें व्यर्थ में मत गंवाओ, जीवन के मूल्यों को समझों और तोबा करो नशे की कोई भी चीज से और अपने जीवन को खुशहाली के तरफ लाओ | इशवर की दी हुई तोहफा को बर्बाद मत करों उन्हें अच्छे कार्य में लगाओ और एक अच्छी सुखद जीवन जिओ |
यहीं मेरी शुभकामना होगी |


प्राकृतिक इलाज भी है अगर चाहे तो- इसके लिए इच्छा शक्ति की जरुरत है और साथ कुछ आयुर्वेदिक उत्पाद है जैसे एलो वेरा जेल, बी पोलेन , जिन चिया इत्यादि या संपर्क कर सकते है |

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Apr 25, 2011

अनिद्रा- (Insomnia )कई रोगों को देता है निमंत्रण ! अवश्य पढ़ें !!!

वर्तमान के भौतिकवादी युग में लोग प्रतिस्पर्धा में तमाम तरह के सुख-सुविधाओं को घर में जुटाने के कारण दिन रात भागते रहते है | ऐसे में एक अच्छी सुख भरी गहरी नींद लोगों से दूर होती चली जा रही है | आज कल लगभग एक चौथाई व्यस्क लोग अनिद्रा रोग से पीड़ित है | भागमभाग वाली जीवन शैली के कारण उनके खान-पान को भी प्रभावित करती है | यहाँ तक की सही तरह से समयानुसार आहार उन्हें नहीं मिल पाता है ,और ज्यादातर लोग फास्ट फ़ूड पर निर्भर रहते है | शारीरिक व मानसिक परेशानियाँ , हाई-ब्लड प्रेशर इत्यादि रोग भी इन्ही की देन है |

अनिद्रा से पीड़ित व्यक्ति रात भर बिस्तर पर करबटें बदलता रहता है | प्रायः ऐसे लोग रात भर गिनती गिनता है, तारे गिनता है , उठकर रात को भी चहलकदमी करता रहता है फिर भी उसे नींद नहीं आ पाती है | इतना कुछ करने के पश्चात् थक हार कर नींद लाने के प्रयास में नींद की गोलियां , शराब व अन्य प्रकार के घातक नशीले पदार्थ का सेवन कर उनके आदी सा हो जाता है | इन सारी स्थितियों के चुंगल में फँसकर व्यक्ति अपने जीवन को दुःख व बीमारियों के भंवर में डुबो लेता है|


नींद नहीं आने के पीछे कई कारण हो सकते है जैसे मानसिक कारणों में ज्यादा थकान, मन में निराशा, असंतुलित आहार, आशंका, डर आदि प्रमुख भूमिका माना जा सकता है | व्यक्ति वर्तमान में मशीनी मानव बन कर रह गया है | काम, काम बस काम , वो इस कदर इस बोझ के तले दबे जा रहे है जैसे कोई जानवर के पीछे उनके मालिक चाबुक लिए खड़े हों और वो बस भगाए जा रहा है | दिशाहीन,विचारशून्य होकर जीवन को एक बोझ जैसे बनाकर बस ढो रहे है |

टेंसन नींद ना आने का सबसे प्रमुख कारण है | शोर-शराबे वाली जीवन शैली, सोने के समय जागना व जागने के समय सोना, शारीरिक व्यायाम व मेहनत से बचना, ज्यादा शराब पीना आदि से भी नींद नहीं आती है |

अगर इस रोग से ज्यादा समय तक पीड़ित रहें तो इसके साथ अनेक प्रकार की बीमारियों का समूह घेर लेती है | तनाव भरी जीवन से शारीरिक व मानसिक परेशानियां बढ़ जाती है | साथ ही घातक बीमारियाँ जिसकी शुरुआत होती है कब्ज़ से और आगे बढ़ते बढ़ते वो डायबिटीज, डिप्रेसन, ब्लड प्रेशर, मोटापा, ह्रदय रोग आदि के रूप धारण कर व्यक्ति के जीवन को मुशीबत में डाल देती है | ऐसे मरीजों में मिर्गी के दौरे भी पड़ने शुरू हो जाते है | और तो और उसके मन में नाकारात्म सोच इस कदर घर कर लेती है की उन्हें आत्म हत्या करने की विचार भी आने लगते है |

रोगी के लक्ष्ण :-
रोगी को हमेशा सिर भारीपन की शिकायत रहने लगती है | लम्बे समय तक नींद सहीं ढंग से न आने के कारण व्यक्ति मानसिक रोगी होकर विक्षिप्त और पागल तक हो सकता है | कब्ज़ के कारण भी नींद नहीं आ सकती है | ऐसे रोगी में एकाग्रता की कमी होती है , स्मरण शक्ति कमजोर होने लगती है | हमेशा शरीर थका-थका, आलस्य, किसी भी काम में मन नहीं लगना आदि भी इनके प्रमुख कारण होते है |

घरेलु उपचार :-
>अनिद्रा रोगी को रात में सोने से पहले बादाम तेल से सिर में मालिश करनी चाहिए , तथा पैरों के दोनों घुटनों तक सरसों के तेल की मालिश अच्छी तरह से करनी चाहिए |
> एक गिलाश दूध में एक चम्मच घी डालकर रात को सोने से पहले पीना चाहिए | घी में सफ़ेद प्याज को भुनकर खाने से भी नींद अच्छी आती है |
> भाँग की हरी पत्तियों को पिस ले तथा इनकी मालिश पैर के तलवों पर करनी चाहिए |
> शाम के वक्त दही में सौंफ चीनी और काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से भी नींद अच्छी आती है |
>सोने से पूर्व दोनों आँखों पर पानी के छींटे मारने चाहिए |
> आजकल की गर्मी के मौसम में शाम को जरुर नहायें और रोयेंदार तौलिये से शरीर को रगड़-रगड़ कर साफ़ करें |
> उबली हुई सब्जियां और फलों के अलावा एक सप्ताह तक कुछ भी न खाएं |
> शहद के साथ बाजरे की रोटी खाने से अच्छी नींद आती है |

औषधीय उपचार :-
Aloe Vera Gel :- इससे शरीर के अन्दर जिसे चिकित्सकीय भाषा में टोक्सिन ( जहर ) कहते है जो आँत के साथ वर्षों से चिपका रहता है जिसके कारण अनेक प्रकार की सम्सयाएं पैदा हो जाती है, सबसे पहले टोक्सिन को शरीर से बहार करेगा | फिर जेल में समाहित पोषक पदार्थ शरीर में कमी होगी उसकी भरपाई करेगी और व्यक्ति करीब करीब पूरी तरह से चुस्त और दुरुस्त हो सकेंगे मात्र कुछ ही महीनो मे !

Fields of Green :- यह गोली के रूप में होता है जिसका सेवन से शारीरिक व मानसिक थकावट दूर होती है | खून की कमी को पूरा करती है और तक़रीबन कई प्रकार के शाक-सब्जियों से मिलने वाली विटामिन इसके मात्र एक गोली से पूरा हो सकता है |

Royal Jelly :- यह भी गोली की तरह ही है जिसे जीभ के निचे रखा जाता है और तुरंत व्यक्ति उर्जायमान महसूस करने लगते है | इसे 'Fountain of Youth' भी कहा जाता है मतलब "जबानी का फब्बाड़ा " यह एक शक्ति शाली टॉनिक के साथ साथ शरीरिक व मानसिक परेशानी में एक अचूक औषधि के तरह काम करती है |

Artic Sea - Omega-3 - ब्लड सम्बंधित समस्या जैसे नस में ब्लड के सुचारू रूप से काम करना, ब्लड के थक्का सम्बंधित, तथा ह्रदय रोगी के लिए यह तो सबसे शक्तिशाली उत्पाद में से एक है | जेली रूप में यह एक कैप्सूल की तरह है जिसका सेवन से ब्लड में उपस्थित कोलेस्ट्रोल को निकाल बहार करता है | ह्रदय रोगी के लिए एक रामवाण औषधि माना गया है |


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Apr 18, 2011

स्वास्थ्यवर्धक फल, केला !!



केला एशिया का फल है और यह गर्म देशों में पैदा होता है | हमारे यहाँ तो पूजा अनुष्ठान में केला का फल रखा जाता है , इसीलिए उपयोगिता के अधर पर इसे देवफल भी कहा जाता है | केले के पते को बहुत ही पवित्र और लाभदायक माना जाता है | शायद यही कारण है जहाँ हमारे यह कई राज्यों में केले के पते पर रखकर भोजन खाने खिलने का प्रथा है | पकने पर इसमें मिठास आ जाती है परन्तु जल्दी से यह गल भी जाता है | पर इसकी विशेषता यह है की इसमें किसी भी प्रकार का कीड़ा नहीं लगता है | यह स्वयं में एक ऐसा फल है जो बंद और कीटाणु रहित होता है | पकने के बाद केले की उपरी मोटी छाल आसानी से उतर जाती है |

पौष्टिक पदार्थ :- केला वीर्यवर्धक, शुक्रवर्धक है ! नेत्र रोग में लाभदायक है , यह एक शक्तिदायक आहार है | इसे रोटी की जगह खाना चाहिए | केले में स्टार्च और शर्करा अधिक होती है | छोटे बच्चे को दूध में मिलकर दे सकते है | यह कफ व रक्त पित नाशक है |

केले में प्राकृतिक शर्करा, सुक्रोस, फ्रक्टोस, ग्लूकोस एवं रेशा होता है | इसके सेवन से तत्काल उर्जा प्रदान करता है | आधुनिक सहोद से सिद्ध हुआ है की कठोर व्यायाम से खर्च होने वाली उर्जा की पूर्ति दो केले खाकर कर सकते है | इसलिए धावकों की पहली पसंद के रूप में केला ही होती है | कई रोगों में तो इसे पथ्य के रूप में भी प्रयोग किया जाता है | एक केले में 27 ग्राम कार्बोहाईड्रेट मिलता है | एक अछे स्वस्थ्य के लिए नित्य 300 ग्राम कार्बोहाईड्रेट लेने चाहिए |


केले में मुख्यतः विटामिन-ए, विटामिन-सी,थायमिन, राइबो-फ्लेविन, नियासिन तथा अन्य खनिज तत्व होते है | इसमें जल का अंश 64.3 प्रतिशत ,प्रोटीन 1.3 प्रतिशत, कार्बोहाईड्रेट 24.7 प्रतिशत तथा चिकनाई 8.3 प्रतिशत है |

शक्तिवर्धक :- एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच घी, पिशी हुई इलाइची व शहद मिला कर केले खाने के साथ पीने से शरीर शुन्द्र और मोटा होगा | बल, वीर्य, शुक्राणु ,काम-शक्ति और मष्तिस्क शक्त बढ़ेगी | स्त्रियों का प्रदर रोग ठीक होगा | दही में केला और पीसी हुई मिश्री मिलकर खाने से भी मोटापा बढ़ता है |

बलवृद्धि के लिए व्यायाम तथा खेलकूद के बाद केले खाना चाहिए | केले में कार्बोहाईड्रेट प्रयाप्त मात्र में होता है जो सरलता से पाच जाता है , छोटे बच्चे को आसानी से दिया जा सकता है | यह बच्चों के लिए उतम आहार है | इसे मसलकर दूध में मिलकर खिलने से अधिक फायदा होता है | यह खून में वृद्धि करके शरीर की ताकत बढाता है | नित्य केला का सेवन अगर दूध के साथ किया जाय तो तो कुछ ही दिनों में स्वास्थ्य पर अच्छा प्रभाव देखा जा सकता है |

केले को पकाने के लिए इथियन एवं कैल्सियम कार्बाइड रसायन का पानी के घोल में डुबाया जाता है इससे केले पक जाते है | ये रसायन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और इनसे केले के पौष्टिक तत्व भी नष्ट हो जाते है इसलिए प्राकृतिक तरीके या वर्फ से पकाया ही खाना चाहिए | चितलीदार केला रसायनों से पकाया जाता है | अतः इसे नहीं खाना चाहिए | सदा धोकर ही फल खाना चाहिए, बिना धुले केला या अन्य कोई भी फल हानिकारक हो सकता है |


>पेट की सुजन में केला आसानी से पच जाता है जबकि दुसरे पदार्थ मुश्किल से पचते है |
> टायफाइड तथा अन्य ज्वरों में केले का पथ्य बहुत लाभ देता है |
> आँतों के अल्सर तथा दुसरे रोग हो जाने पर रोजाना 6 से 9 केले खिलाने से लाभ होता है |
> खून की कमी को दूर करता है तथा गले की सुजन में लाभकारी है |
> गाउट रोग में यह मूत्र की यूरिक अम्ल घुलाने की शक्ति बढ़ा देता है |
> केले के पेंड में एक सफ़ेद डंडा होता है | इस डंडे के रस गर्मी के रोग तथा मष्तिष्क - सम्बंधित रोग शांत होते है | कैंसर रोगी के लिए यह औषधि का कार्य करता है |

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

Mar 19, 2011

एलोवेरा जूस क्यों जरुरी है ?

एलो मात्र एक पौधा नहीं है, मानो कुदरत ने मानव शरीर के कल्याण के लिए विशेष तौर पर इसे धरती पर लाया हो | जितने गुण एलो वेरा में है ,शायद ही किसी और जड़ी-बूटी में एक साथ पाए जाते है | इसलिए इसे औषधियों का महाराजा माना गया है | कई नाम से इसे लोग पुकारते है , कुछ लोग इसे संजीवनी बूटी तो कुछ लोग इसे साइलेंट हीलर, चमत्कारी औषधि आदि भी कहते है |

एलोवेरा का 5000 साल पुराना इतिहास है | पुराने समय में लोग इससे औषधि के रूप में इस्तेमाल करते आ रहे है | पवित्र ग्रन्थ रामायण, बाइबल और वेदों में भी इस पौधे की उपयोगिता के बारे में चर्चा की गई है | मिस्त्र की महारानी क्लीवपेट्रा से लेकर महात्मा गाँधी तक इसका इस्तेमाल करके फायदा उठा चुके है | वर्तमान में एलो वेरा का उपयोग अनेक प्रकार के आयुर्वेदिक औषधीय में बहुतायत से हो रहा है | कोई भी वैद्य,चिकित्सक, व हाकिम इनके गुणों को नकार नहीं सकता | इसे कई नाम से जाना जाता है , जैसे हिंदी में ग्वारपाठा, क्वारगंदल,घृतकुमारी, कुमारी या फिर घी-ग्वार भी कहते है |



वर्षों के शोध के बाद पता चला की एलोवेरा के 300 प्रकार के होते है | इसमें 284 किस्म के एलो वेरा में 0 से 15 प्रतिशत औषधि गुण होते है |11 प्रकार के पौधे जहरीले होते है बाकि बचे 5 विशेष प्रकार में से एक पौधा है जिसका नाम एलो बारबाडेन्सिस मिलर है जिसमे 100 प्रतिशत औषधि व दवाई दोनों के गुण पाए गए है |

जिस तरह हमारे यहाँ (AIIMS DELHI ) एम्स दिल्ली को सब जानते है ठीक वैसे ही अमेरिका में लाइंस पौलिंग इंस्टीच्युट ऑफ़ साइंस एंड मेडिसिन न केवल अमेरिका में बल्कि सारे संसार में परिचित है | डॉ. लाइंस पौलिंग जिन्हें दो बार नोबिल पुरुस्कार से से नाबजा गया था |



कई वर्षों के शोध के बाद पता लगाया इस विशेष प्रकार के एलो बारबाडेन्सिस में समाहित गुणों के बारे में | फिर फॉर एवर लीविंग प्रोडक्ट्स इंटरनेशनल के चेयरमान रेक्स मॉन जो की अमेरिकन है उनके सहयोग से एलो वेरा जेल और साथ में कुछ उत्पाद को बाजार में उतारे जो को मानव जाती के लिए चमत्कारी सिद्ध हुए |

एलोवेरा की खास बात यह है की यह अपना आहार वातावरण से लेता है | आज के वातावरण में प्रदुषण ज्यादा है, और एलोवेरा के पत्ते उसे अपने अन्दर सोंख लेता है | पहले के एलो वेरा कुछ हद तक ठीक था क्योंकि पहले हमारे आसपास इतना प्रदुषण नहीं होता था | आसपास इतना प्रदुषण है की हमारे यहाँ के एलोवेरा जेल को पीना स्वस्थ्य के दृष्टीकोण से ठीक नहीं हो सकता है |


ऍफ़.एल.पी 7500 एकड़ जमीन में बिलकुल प्रदूषित रहित तरीके से खेती करके एलो पौधों की फसल तैयार करती है | यहाँ प्रदुषण का इतना ख्याल रखा जाता है की 200 किलोमीटर तक के आसपास के क्षेत्र में कोई पेट्रौल, डीजल वाली गाडी मोटर नहीं चलती और यहाँ तक वहां अन्दर भी जो गाडी वगैरह चलती है, वो बैटरी से चलती है | इस तरह प्रदुषण का दूर-दूर तक नामोनिशान नहीं होता है |

ऍफ़.एल.पी एलोवेरा को ( IASC ) इंटरनेसनल एलो साइंस काउन्सिल से मान्यता प्राप्त सील उत्पाद की शुद्धता और गुणवता को दर्शाती है | 25 -09 -2005 को टाइम्स ऑफ़ इंडिया में एक आलेख भी छपा था जिसमे एलोवेरा के शुद्धता के लिए सील को अवश्य देख ले | ऐसा एलोवेरा के सम्बन्ध लिखा लेख में लिखा गया था |

इस पौधे की विशेषता यह है की पत्ते को तोड़ने के ठीक तीन घंटे के अन्दर उपयोग कर लेना चाहिए नहीं तो उनमे विद्यमान औषधि + पौष्टिकता के गुण धीरे-धीरे नष्ट हो जाते है | ऍफ़.एल.पी में वैज्ञानिकों की शोध करके इस पौधे के जूस को कुछ जड़ी-बूटी की मदद से इसके जीवन को दो- तिन घंटे से बढाकर चार साल के लिए सुरक्षित कर दिया है |

एलोवेरा जूस कैसे काम करता है ?
एलोवेरा जेल कम से कम 90 -से 120 दिनों के नियमित सेवन से असाध्य कहे जाने वाली बीमारियाँ में लाभ पा सकते है - जैसे Arthritis, Asthma, Diabeties,Heart Problem, High/Low Blood Pressure,Gastric Problem, Constipation, Obesity, Ulcer, Lack of Energy, Thyroid, Kidney Problem, Back Pains, Survical Problem, Parkinson, Colitis, Amoebas, Stress, Tension, Depression, Cholestrol, Pimples, Ladies Problem during pregnancy, Plus all A to Z Problems और तो और Cancer जैसी खतरनाक बीमारी में भी एलो जेल राहत देती है यानि इसके नियमित सेवन से आप हमेशा के लिए तंदुरुस्त रख सकते है |

आप हैरान होंगे की एक एलोवेरा से करीब 220 प्रकार के बीमारियाँ कैसे ठीक हो जाती है ? इससे पहले हम यह जान ले की हमें बीमारियाँ होती क्यों है ? दरअसल हमें जीवित रहने के लिए हवा, पानी और भोजन की आवश्यकत होती है, पहले के समय इसी के सहारे लोग सैकड़ों वर्षों तक जीवित रहता था क्योंकि पहले वातावरण स्वच्छ था लेकिन आज के वातावरण को देखे तो यह तीनो ही चीजें हमें अशुद्ध मिल रही है |

दूसरा आज का खान-पान,हमारी जीवन शैली ,आधुनिकता की दौड़ में इतनी बदल चुकी है की हमें अपने लिए ही वक्त नहीं होता |आज समोसा, पिज्जा ,बर्गर,पेप्सी,चाउमीन मतलब फास्ट फ़ूड हमारे आहार में शामिल हो चूका है तथा नियमित व्यायाम करने का समय भी नहीं बचा है तो यही सब कारण मिलकर मनुष्य को अस्वस्थता की ओर ले जाते है |

चुकी हमारी 90 प्रतिशत बीमारियाँ पेट से उत्पन्न होती है और इन सब बिमारियों का कारण है - हमारी आंते साफ़ ना होना और एलोवेरा में मौजूद सापोनिन और लिग्निन आँतों में जमे मैल को साफ़ करके इनको पौष्टिकता प्रदान करता है | शरीर में किसी भी प्रकार के रोग का होना अन्दुरुनी सिस्टम में गरबरियाँ को दर्शाती है |


एलो मानव शरीर में डोमेक्स का काम करता है , जैसे किचन की नाली जब जाम हो जाती है तो हम नाली में डोमेक्स डालते है और नाली साफ़ हो जाती है और उसी तरह एलो मानव शरीर के अन्दर जाते है आंतो को साफ़ करने का काम शुरू कर देता है | और जैसे जैसे हमारी आंते साफ़ होती है वैसे -वैसे हमें आराम मिलना शुरू हो जाता है | जैसे सूर्य के तेज को हम नाकर नहीं सकते उसी तरह एलो जूस मानव शरीर के अन्दर जाते ही उसे आराम मिले बिना नहीं रह सकता |

इसके नियमित सेवन से आँखों की रौशनी बढती है घुटनों के दर्द , खून साफ़ करने में हकलाने में , दांतों की बिमारियों में पेट की सभी बिमारियों में बालों के झरने में , यादास्त बढ़ाने में वजन कम करने में या बढ़ाने में बहुत फायदा देता है | इसे किसी भी दावा के साथ लिया जा सकता है | इसका किसी भी प्रकार कोई दुष्प्रभाव नहीं है | बच्चे, जवान, बुजुर्ग ( स्त्री-पुरुष) सभी ले सकते है |

अतः एलोवेरा हमें नियमित लेना चाहिए | यह हमारे घर के वैद्य है | अगर कोई बीमार पिएगा तो उसे स्वस्थ्य होने में मदद मिलेगा और कोई स्वस्थ्य व्यक्ति पिएगा तो बीमार ही नहीं होगा |

हजारों लाखों रुपये बीमारी के इलाज में खर्च करने से कई गुना बेहतर है की बीमारी होने के कारण को ही शरीर से बहार निकालने का प्रयास किया जाये | घर बैठे , खाते-पिटे, हँसते-खेलते, बिना कोई ओपरेसन के अपनी व अपने परिजन की समस्त बीमारी के कारणों को आप स्वयं ही समूल नष्ट कर सकते है |

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

आओ मिलकर होली खेलें- जीवन को खुशियों से भर लें !!

होली महोत्ष्व से पहले यानि की आज होलिका दहन होता होता है | प्रत्येक नगर-गाँव के प्रमुख चौराहों और अतिविशिष्ट स्थानों पर होलिका दहन हर्षो उल्लास से किया जाता है |लोग इसके लिए जलावन का सामग्री इकट्ठा कर शाम के समय उसमे आग लगा देते है और फिर वहां उपस्थिति लोग नाचते गाते हुए उसका परिक्रमा करते है |
होलिका दहन क्यों ?
एक पौराणिक कथा के अनुसार, हिरन्यकश्यप नामक एक राक्षस था | उसे सर्वत्र हिरन्य (कनक) यानि सुवर्ण ही दिखाई देता था | भोग विलास ही उसके जीवन का प्रमुख उद्देश्य था | राक्षस का अर्थ " खाओ, पीओ और मौज करो" वाली मानसिकता का मानव | भोग और स्वार्थ के सिवा उन्हें कुछ भी नहीं दिखाई देता है | स्वयं को भगवन समझने वाला दुसरे भगवन को कैसे स्वीकार करता ?

लेकिन वो कहावत है न - कीचड़ में ही कमल खिलता है और कमल की तरह उसके यहाँ प्रहलाद जैसे भक्त पुत्र का जन्म हुआ | प्रहलाद गर्भ में था तब उसकी माता नारद के आश्रम में रही थी , वहां के संस्कार का असर प्रहलाद पर पड़ा था | परन्तु राक्षसी प्रवृति का पिता यह बात सहन कैसे कर सकता ?

प्रहलाद को मार डालने के लिए अनेक प्रकार के प्रयास किये उनमे से एक प्रयास यह था की उसे जिन्दा जला दिया जाए | प्रहलाद अग्नि में उठकर भागे न इसके लिए उन्होंने बुआ जी के गोद में उसे बिठाया | हिरन्यकश्यप की बहन होलिका को यह वरदान मिला था की अग्नि उसे जला नहीं सकेगी ? अपने भाई के आग्रह से होलिका ने प्रहलाद को गोद में लेकर अग्नि में बैठने का निश्चय किया, परिणाम हुआ की होलिका जलकर भष्म हो गई भक्त प्रहलाद हँसता खेलता बाहर आया | अतः यह हमारे लिए होली का एक अनोखा सन्देश देता है |

अगले दिन यानि की कल होली का त्यौहार जो की रंगों का त्यौहार होता है | रंगोत्सव ( धुलैंडी ) जिसमे लोग एक दुसरे के साथ रंग व अबीर लगाकर खुशियाँ मानते है | वैसे तो फाल्गुन का आना स्वतः मालूम हो जाता है जब प्रकृति में बदलाव होने लगते है | ठंढ कम हो जाता है | पेड़ों पर नए पत्ते आने लगते है | आम के वृक्ष मंजरने लगते है | भंवरों का मडराने जैसे प्रकृति में चारो और मादकता की अनुभूति होने लगता है | मनो जहाँ सारा वातावरण सुगन्धित हो गया हो |


कुल मिलकर कुदरत में भी रौनकता दिखाई देने लगती है , जिससे प्राणियों में भी एक अदृश्य शक्ति का संचार होने लगता है | नए जोश, उमंग के साथ प्राणी होली के महा उत्सव के लिए बिन पिए ही मदमस्त दिखाई देते है |अतः होली के रंग को लेकर कर आने वाला फाल्गुन हमें नवजीवन का सन्देश देता है !एक ओर जहाँ होली सद्विचार,सदमिलन,मित्रता, एकता,भाईचारा का पर्व है , दूसरी ओर इस दिन द्वेष -भाव त्याग कर सबसे सप्रेम मिलने का पर्व के रूप में मनाया जाता है |

आप सबको होली की अनंत शुभकामनाएं !!
For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

Mar 11, 2011

जापान में जलजला - ब्लैक फ्राइडे - सुनामी का तांडव


जापान में आये महाप्रलय में वहां के फ़्लाइओभर,बड़े बड़े जहाज , गारियाँ सबकुछ तेज लह्डों में तिनको की तरह बहते देखे जा रहे है | महाविनाश की यह लीला देखकर दिल दहल जाता है | सुनामी से उठी समंदर की ऊँची ऊँची लह्डों में वहां के बड़ी बड़ी बिल्डिंग भी बेबस नजर आ रही है | करीब 20-30 फिट ऊँची ऊँची लह्ड़े कई द्वीप का नामोनिशान मिटा सकती है |

इससे पहले जापान में अमेरिका द्वारा इस्तेमाल किया गया परमाणु बम वाकई इंसानी रूप में सबसे बड़ी त्रासदी थी परन्तु कुदरत का यह महाविनाश उससे भी कई गुना ज्यादा विनाश लेकर आई है |जहाँ सबकुछ तबाह कर दिया है | सूत्रों के मुताबिक तबाही में नुकसान का अंदाजा लगाना अभी मुश्किल काम है |

अमरीकी भौगोलिक सर्वे के मुताबिक़ भूकंप की तीव्रता 8.9 थी और इसका केंद्र टोक्यो से 400 किलोमीटर दूर था | वैज्ञानिकों का कहना है की यह जापान के इतिहास में सबसे बड़ा भूकम्प में से एक है | उसके बाद ही समंदर में भी हलचल शुरू हुई और देखते ही देखते उत्तर पूर्वी जापान के दो शहरों को पूरी तरह से नस्त नाबुत कर दी है |


इस तबाही में मरने वालों की संख्या 1000 लोगों से भी ज्यादा होने की आशंका की जा रही है | टीवी फुटेज देखने के बाद कलेजा कांपने लगा है ! अगर ऐसा कुछ हमारे दिल्ली में आ जाय तो क्या यहाँ कुछ भी बच पायेगा |

सरकार को इस तरह की आपदा के लिए तैयार रहना चाहिए | मंजर इतना भयावह लगता है जिसे देखकर मतलब सोचकर ही कलेजा कांपने लगा है |

जापान जिसे उगते हुए सूरज का देश कहा जाता है , सुनामी का तबाही ने उसे अँधेरे में धकेल दिया है | जापान के कई शहर सुनामी का जलजला में समाते जा रहे थे | सुनामी के ऊँची ऊँची लहड़ के सामने वहां के बिल्डिंग बौने देखे जा रहे थे | सुनामी का सितम जापानी लोगों के लिए अब तक का सबसे बड़ी तबाही में से एक है |



For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

अपेंडिक्स है - एलोवेरा जेल लें ओपरेशन से बचें !


अपेंडिक्स क्या है ? यह छोटी आँतों और बड़ी आँतों के बिच की कड़ी है | इसमें एक छोटी से थैलिनुमा जो शेह्तुत के आकर की होती है जो आँतों से बाहर की ओर निकली रहती है | इसी को अपेंडिक्स कहते है | दरअसल पहले इसके कार्य प्रणाली के बारे में नहीं मालुम था की क्या मनुष्य के लिए अपेंडिक्स जुरुरी है या नहीं | अक्सर चिकित्सक अपेंडिक्स को हटा देने में ही भलाई समझते थे , इससे मरीजो को कोई समस्या नहीं आती है, मतलब यह एक आँतों के बिच में गैरजरूरी चीज समझा जाता था |

परन्तु चिकित्सक ने अपेंडिक्स पर शोध के बाद पाया की यह स्वस्थ्य शरीर के लिए जरुरी भी है | इससे मनुष्य के पाचन प्रणाली के लिए अच्छे वाले बैक्टेरिया को जमा करके रखने वाली थैली है जिससे कारण जब लम्बे समय से रोगों के वजह से जब शरीर के बैक्टेरिया में कमी हो जाती है तो अपेंडिक्स का काम पाचन प्रणाली को सुदृढ़ रखना होता है |


दरअसल अपेंडिक्स की थैली एक ओर से खुली और दुसरे ओर से बंद होती है | छोटी आँतों से बचा हुआ कण अगर उसमे जाकर फंस जाता है और ज्यादा दिनों तक एकत्रित होकर सड़ने-गलने लगते है फिर सुजन हो जाता है जिसके कारण जबरदस्त दर्द मध्य रात्रि के आसपास शुरू होता है जो की कभी तेज कभी धीमा परन्तु लगातार करीब चार घंटे तक होता रहता है |

इसके मुख्य कारण होता है लम्बे समय तक कब्ज़ का रहना , पेट में पलने वाला परजीवी व आँतों के रोग इत्यादि से अपेंडिक्स की नाली में रुकावट आ जाता है |

भोजन में रेशे का न होना या कमी भी इस समस्या के लिए जिम्मेदार होता है | जब यह अपेंडिक्स में लगातार रुकावट की स्थिति बनी रहे तो सुजन और संक्रमण के बाद यह फटने की स्थिति में हो जाती है फिर तो यह बहुत ही भयावह हो सकता है |


इसके लक्षण पेट के दाहिने भाग के निचे अचानक तेज दर्द का होना , उलटी आना, जी मचलाना , जीभ के ऊपर सफ़ेद आवरण का होना , हलकी बुखार का होना | शुरू में अपेंडिक्स का दर्द नाभि के निचे से उठता है और बाद में दाहिने टांग के ऊपर पेट में होता है |

दर्द बहुत बढ़ जाने पर ओपरेशन आवश्यक हो जाता है | यदि यह शुरूआती अवस्था में हो या ऐसे लम्बे अरसे है जिसके दौरान दर्द उठता है फिर चला जाता है, तो पोषक तत्वों व जड़ी बूटी से रोगी को काफी मदद मिल सकती है |

एलो वेरा आधारित जड़ी बूटी के माध्यम से रोगी का इलाज संभव है जो की निचे दी जा रही है :-
1 Aloevera Gel - भोजन के कणों को हटता है और निर्वाशिकरण करके शरीर के पाचन प्रणाली व पौष्टिकता प्रदान करता है !
2 Pomesteen Power - सुजन विरोधी, पीड़ा निवारक है !
3 Bee Propolis - प्राकृतिक एंटी बायोटिक ,
4 Garlic Thyme - एंटी-बायोटिक, मांसपेशी को रहत पहुंचाती है |

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

Mar 10, 2011

एलोवेरा जूस शरीर के लिए अमृत तुल्य - आइये जानते है क्यों ?



आज आपके साथ चर्चा करते है एलो वेरा जूस में समाहित विशिष्ट तत्व जिसके सेवन से मनुष्य के शरीर निरोग रहता है | सुन्दर,चुस्त व दुरुस्त सेहत के लिए मनुष्य अपने दैनिक आहार में इस जूस को शामिल करें | आखिर क्या गुण है एलो वेरा जूस में जो मानव जाती के लिए आज के युग का अमृत तुल्य माना गया है ?

लिग्निन :- एक गुदे जैसा पदार्थ जो एलो वेरा की पत्तियों की जेली में शामिल सेलुलोज के साथ पाया जाता है | इसकी उपस्थिति इस बात का सूचक है की यह मनुष्य की त्वचा में गहराई तक जाने की अत्यधिक क्षमता रखता है |

सैपोनिंस :- इसकी खोज 1951 में एक घटक के रूप में की गई जिसमे एलोवेरा लीफ जूस की मात्रा 2 .91 प्रतिशत शामिल थी | सैपोनिंस ग्लाइकोसाइड्स है जिनमे न केवल आँतों की सफाई करने की क्षमता है बल्कि शैम्पू जैसे कास्मेटिक्स में प्राकृतिक झाग पैदा करने वाले उच्चकोटि के प्राकृतिक साबुन एजेंट भी है |

एन्थ्राक्विनोंस :- अलोइन-कैथोटिक और एमिटिक , बारबैलोइन -एंटीबायोटिक और कैथोरटिक , आइसोबारबैलोइन-एनालजेसीक और एंटीबायोटिक , अन्थ्रानाल , अन्थ्रासिं, अलोईटिक एसिड - एंटीबायोटिक, अलो अमोडीन-बैकटीरिसाइड और लक्झेटिव, सिनैमिक एसिड- जर्मीसाइड और फंगीसाइड, इस्टर ऑफ़ सिनैमिक एसिड- एनालजेसीक और अन अस्थेटिक, इस्टीरियोल आयल - ट्रेकुलाईजिंग , क्रिसोफेनिक एसिड - स्किन फंगस , अलो अल्सिन-गैस्ट्रिक सीक्रेशन रोकता है , रेजिस्टनाल |

मोनो और पॉली सैकेराईड्स :- एल्ड़ोनेन्टोज, सेलुलोज, ग्लूकोज, एल रैमनोज, मैनोज !

अमीनो एसिड :-
आवश्यक अमीनो एसिड - आइसोल्युसिन, ल्युसिन, लाइसिन, मैथीओनिन, फेनिल लोनीन,थियोंइम, वैलिन

सेकेंडरी :- एलोनिं, आज़िरनीन,एस्पार्टिक एसिड, ग्लुटामिक एसिड , ग्लिसरीन, हिस्टीडाइन, हाइड्रोक्सीप्रोलाइन्स, प्रोलाइन , प्रोलाइन, सेरिन, टाइरोसीन !
इनआर्गनिक / इन्ग्रेडिएन्ट्स/मिनरल्स :- कैल्सियम, फास्फोरस,पोटैशियम,आयरन,सोडियम,क्लोरिन,मैंगनीज, मैंग्नेशियम,कापर, क्रोमियम, जिंक !

विटामिन्स :- विटा ए-कैरोटिन , विटा बी-उत्तकों में वृद्धि, रक्त और उर्जा उत्पन्न करता है ! विटा सी- कीटाणुओं को रोकने, घाव भरने और स्वस्थ्य त्वचा के निर्माण में सहायक होता है ! विटा एम्- रक्त निर्माण में सहायक , नियान्सिमेंनाइड- मेटाबोलिज्म का नियंत्रक ! कोलाइन - मेटाबोलिज्म में सहायक !

एन्जाइम :- फास्फेट - एमाइलेज, ब्रैडीकाइनेज- इम्यून बिल्डिंग , कैटालेज - तंत्र में पानी संग्रह की सुरक्षा , सेलुलोज - सेलुलोज डाइजेशन, क्रिएटिव फास्फो काइनेज - मस्कुलर एन्जाइम , लाइपेज- पाचन, न्युक्लियोटाईडेज, अल्केलाइन फोस्फेट, प्रोटिएज- प्रोटीन को उनके संघटक तत्वों में हाइड्रोलाइज करता है !

अतः इन्हीं सब उपरोक्त विशिस्ट गुणों के कारण एलो वेरा जूस वर्तमान में तहलका मचा दिया है | वह चाहे किसी भी प्रकार के रोग हो उसमे अचूक साबित हो रही है | यहाँ तक की प्राकृतिक चिकित्सा में एलो वेरा जूस कब्ज़ से लेकर कैंसर तक के मरीजों के लिए एक अत्यंत लाभकारी औषधि है | नित्य नियमित एलो वेरा जूस का सेवन मनुष्य जीवन के लिए काया कल्प कर देती है |

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

Feb 17, 2011

मधुमेह एक साइलेंट किलर -------


आइये एक बार फिर से मधुमेह से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में चर्चा करते है | वैसे तो कई तरह की समस्याएं होती है परन्तु चालीस से सत्तर प्रतिशत लोग अपनी टांगे कटवाने को मजबूर होते है | वर्तमान में ये आंकड़ा चौकाने वाली है की विश्व में प्रत्येक 30 सेकेण्ड में कोई न कोई मधुमेह का मरीज अपनी टाँगे गँवा बैठता है | गौरतलब है की डायबिटीज से 85 प्रतिशत अंगविच्छेदन पैरों में जख्म होने की वजह से ही होते है |

मधुमेह के मरीजों में टांग पर ही सबसे बड़ी खतरा रहता है | इसके तीन प्रमुख कारण है :-
1 . डायबिटीज न्यूरोपैथी की वजह से पैरों में संबेदन हीनता !
2 . पैरों में रक्त आपूर्ति घट जाना !
3 . डायबिटिक मरीजों के पैरों के जख्म व संक्रमण तेजी से ठीक नहीं होते कई अन्य जटिलताओं के कारण अधिकतर मरीजों को ऐसे जख्मों को तब तक पता नहीं लग पाता जब तक कि मामला गंभीर न हो जाए !

डायबिटिक फुट अल्सर का आसानी से पता नहीं लगता | बाहर से जख्म जैसा दिखाई देता है | वह तो मामले के एक छोटा हिस्सा होता है, जबकि भीतर संक्रमण कहीं अधिक गहरा होता है | पैरों के नाख़ून ब्लेड से काटना, नंगे पैर चलना,पैरों को काटने वाला जुटे पहनना | ये प्रमुख कारण है जिनसे पैरों में जख्म हो जाते है |


पैरों की साफ़ सफाई नियमित तौर पर नहीं करना भी एक अहम् वजह है | अगर पैरों में जरा सा भी खरोंच व असामान्यता दिखाई दे तो तुरंत उचित कदम उठाएं ! पैरों पर ज्यादा बोझ न पड़ने दे | ऐसा इसलिए कि मरीज को जख्म का एहसास नहीं होता, वह चलता रहता है |

यह स्थिति अक्सर मधुमेह कि दो जटिलताओं कि वजह से होती है |
1 . तंत्रिका क्षति 2 . कमजोर रक्त संचार |
तंत्रिका क्षति :- हाई ब्लडप्रेशर टांगों व पांवों की नसों को नुकसान पहुंचती है | क्षतिग्रस्त शिराओं की वजह रोगी की टांगो व पांवों में दर्द, गर्मी, ठंढ का एहसास नहीं होता | पैरों में सुजन व खरोंच बदतर हो जाती है , क्योंकि संबेदना जाती रहती है | इस अवस्था को डायबिटिक न्यूरोपैथी कहते है | छोटी सी समस्या बड़ी मुसीबत बन जाती है |
2 .ख़राब रक्त संचार :- मधुमेह प्रायः रक्त शिराओं को प्रभावित करता है | टांगो व पांवों में होने वाला रक्तसंचार घट जाता है | जिसमे सुजन या संक्रमण का ठीक होना मुश्किल हो जाता है | मधुमेह का रोगी धुम्रपान करता है तो रक्तसंचार की समस्या बिगड़ जाती है |

मस्तिस्क से सम्बंधित रोग :- 50 से 70 वर्ष की आयु में पक्षघात होने का खतरा आम आदमी से चार गुना अधिक मधुमेह के रोगियों को होता है |

गुर्दे सम्बंधित रोग :- मधुमेह में गुर्दे सम्बंधित रोग टाइप 1 मधुमेह टाइप 2 की तुलना में कहीं ज्यादा होता है | 20 वर्षों तक मधुमेह से पीड़ित रह चुकने के बाद जहाँ टाइप 2 मधुमेह में इस कुप्रभाव के होने की सम्भावना 16 प्रतिशत तक होती है , वहीँ टाइप 1 में सम्भावना 40 प्रतिशत तक रहती है | गुर्दे की पूर्णतया नष्ट हो जाने का मधुमेह दूसरा सबसे आम कारण होता है |

नेत्रों सम्बंधित रोग :- मधुमेह के रोगियों को अंधत्व का खतरा आम व्यक्ति की तुलना में 20 गुना ज्यादा होता है | कम आयु में मोतियाबिंद होने के कारण दृष्टिदोष होने पर मधुमेह सबसे प्रमुख कारण है |

कुछ टिप्स अपने दैनिक जीवन में उपयोग कर मधुमेह पर नियंत्रण की जा सकती है :-------
एलोवेरा जेल अपने दैनिक जीवन में नित्य सेवन करें ताकि इस तरह के रोग से आपके जीवन में घुसपैठ न कर सकें |इससे निदान के लिए और बहुत कुछ है जो हम अगले अंश में चर्चा करेंगे |

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !