" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Feb 4, 2012

कैंसर को दे मात एलोवेरा व पौष्टिक पूरक से !!


कल यानि 4 फरबरी विश्व कैंसर दिवस के रूप में मनाये जाते है ! यह एक ऐसा शब्द है जिसका नाम सुनते है पीड़ित व्यक्ति व उनके परिजन के होश उड़ जाते है ! वर्तमान में दुनिया में होने वाली मौतों का दूसरा प्रमुख कारण कैंसर है ! यह आज दुनिया भर में सबसे बड़ी स्वास्थ्य की समस्या बन चूका है ! तक़रीबन 10 लाख कैंसर के मामले प्रत्येक साल भारत में आते है ! देश में महिलाओं में गर्भाशय के मुख ( सर्विक्स ), स्तन व डिम्बग्रन्थि के कैंसर के सर्बाधिक मामले सामने आते है ! वहीँ पुरुषों में मुंह, गर्दन व फेफड़े व भोजन नली के कैंसर के मामले सबसे ज्यादा होते है !

शरीर के किसी भी भाग में , उस भाग की कोशिकाओं ( सेल्स ) में असमान्य रूप से वृद्धि होने की प्रक्रिया को कैंसर कहा जाता है ! यह असमान्य वृद्धि शरीर के किसी भी भाग में गांठ व घाव के रूप में हो सकती है ! आइये कुछ प्रकार के कैंसर के बारे में चर्चा करते है और लोगों में जागरूक बनाए :-

मुख कैंसर ( माउथ कैंसर ) :- वर्तमान में मुख कैंसर के मामले सबसे ज्यादा भारत में पाए जाते है ! तक़रीबन 50 फीसदी से भी ज्यादा मामले भारत में सामने आते है !
अपने देश में मुख कैंसर ज्यादा होने के सबसे प्रमुख कारणों में से एक है गुटखा पान मशाला व तम्बाकू के उत्पादों का सेवन ! आजकल युवक व युवती गुटखा पान माशाला का सेवन अपनी शान की बात समझते है !

यही वजह है अब युवावस्था में ही तमाम लोग इस कैंसर के गिरफ्त में आ रहे है ! इसके अलावा धुम्रपान व शराब का नित्य सेवन भी मुख कैंसर के जोखिम को बढ़ता है ! शुराती अवस्था में यह छोटा घाव ( अल्सर ) के रूप में विकसित होता है ! दर्द नहीं होने के कारण लोग इसे अनदेखी कर देते है ! लेकिन जबतक समझे में आता तबतक गर्दन की ग्रन्थियों तक या फिर शरीर में अन्य भागों तक फैलने की आशंकाए बढ़ जाती है !

अमाशय ( स्टमक ) कैंसर :- स्टमक कैंसर पाचन तंत्र को बुरी तरह से प्रभावित करता ! इसके कारण पाचन तंत्र की कार्य प्रणाली बंद हो जाती है ! शुरुआती दौर में इस रोग को पहचानना बिलकुल संभव नहीं चुकी इसका विशेस लक्ष्ण नहीं होता जिससे स्पष्ट हो सके की यह अमाशय कैंसर के रूप है ! वैसे अगर पेट दर्द, पेट का फूलना, जी मिचलाना या उलटी होना, मल त्याग की आदतों में बदलाव और वजन कम होना आदि ऐसे ही लक्ष्ण है जो सामान्यतः अनेक रोगों में प्रकट हो सकते है !
जब मरीज बदहजमी, पेट में अल्सर या साधारण वाइरल से पीड़ित होता है !धुम्रपान और बहुत अधिक मात्रा में शराब पीना अमाशय कैंसर का एक कारण हो सकता है!

आयुर्वेद के अनुसार किसी भी रोग की चिकत्सा के लिए रोग के मूल कारणों को जानना अनिवार्य है ! आयुर्वेद के मुताबिक कैंसर का मूल कारण शरीर में विकारयुक्त पदार्थों का संचित होना है ! और यदि यह ज्यादा समय तक शरीर में संचित रहे तो मानव कोशिकाओं के विभाजन को प्रभावित कर उन्हें दूषित कर देते है ! और यही एक कैंसर का रूप ले लेते है !

स्तन कैंसर :- विश्व स्वास्थ्य संगठन के पूर्वानुमान के अनुसार 2020 तक भारत में सात में से एक महिला स्तन ( ब्रेस्ट ) कैंसर से पीड़ित होगी ! वैसे देश में आजकल ब्रेस्ट कैंसर के मामले का गुणात्मक रूप से वृद्धि हो रही है ! महिलाये तब तक इस रोग की ओर ध्यान नहीं देती जबतक उनकी गाँठ में दर्द शुरू नहीं हो जाता है ! कई बार छोटी सी दर्दविहीन गांठ आगे चलकर स्तन कैंसर का कारण बन जाता है ! अतः इस जोखिम को न अपनाए , ऐसा समझ आये तो तुरंत चिक्स्त्क के पास जाए और अपना सफल इलाज करबाए ! स्तन कैंसर धीरे-धीरे पनपता है ! कैंसर की गांठ 1 सेमी. तक बनाने में कई बार 10 साल तक लग जाते है !

कैंसर के उपचार में आयुर्वेदिक व प्रकृतिक चिकत्सा एलो वेरा जेल व पौष्टिक पूरक से नतीजे बहुत ज्यादा सकारात्मक रहते है ! एलोवेरा जूस का नियमित सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है ! एलोपैथी चिकत्सा में रेडियो थेरेपी व किमो थेरोपी के दुष्प्रभाव भी होते है तो साथ में आयुर्वेद चिकत्सा से इन दुष्प्रभावों को कम किया जा सकता है !
एलोवेरा जेल व पौष्टिक पूरक निम्नलिखित है :-
1. Aloe Vera Gel 2. Garlic Thyme 3.Artic Sea 4. Pomestin Power 5. Bee Propolis 6. Gin Chia.Fields OF Green ETC.

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से !
सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

0 comments

Post a Comment