" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Feb 3, 2012

जा को राखे साइंया मार सके न कोई ! मौत पर भारी ज़िन्दगी !



"जा को राखे साइंया मार सके न कोई " बिलकुल ठीक कहा गया है , दरअसल आज शाम 6 .45 मिनट की घटना है ! पल्ला पुल के पास वाली आगरा नहर में एक बारहवीं क्लास की छात्रा ने छलांग लगा दी ! जिसका नाम उनके कापी पर श्वेता शर्मा लिखा हुआ था !

प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार लड़की देर शाम तक़रीबन साढ़े छे बजे आई ! मानसिक स्थिति कुछ ठीक नहीं लग रहा था ! पहले तो वो पुल के ऊपर से कूदने की सोच रही थी और कई बार प्रयास भी की परन्तु मौत के खौफ से वो नहीं कर पा रही थी फिर वो पुल के बगल से थोडा नहर के निचे गई और अपनी सॉल और कापी को निचे रख छलांग लगा दी !

वहीँ से गुजर रहा रिक्शा चालाक ने देखा और शोर मचाया ! लोग तमाशबीन के तरह देख रहे थे पर कोई कुछ भी नहीं कर पा रहे थे ! अँधेरा होने लगी थी ,ज्यादा दूर तक पानी में दिखाई नहीं दे रहा था !कुछ ही दुरी पर पुलिश की गाडी खड़ी थी लोगो ने उन्हें सुचना दी ! पुलिश वाले आये ,परन्तु वो भी भीड़ का हिस्सा मात्र बन कर रह गया और लोगों से कह रहे थे की कोई छलांग तो लगाओ पानी में ! पर कोई भी तैयार नहीं हो रहे थे ! एक ने प्रयास भी किया पर ज्यादा कुछ नहीं कर पाए और वापस नहर से आ गया !

तबतक कोई 7 -8 मिनट हो चूका था ! उसी रास्ते से एक व्यक्ति मोटर बैक से जा रहा था और भीड़ देखकर रूककर पूछने लगा की क्या बात है ? फिर एक महिला ने बताई की एक जबान लड़की नहर में कूद गई है ! उसने अपनी परवाह नहीं करते हुए नहर के साथ अँधेरे में बहुत दूर तक दौड़ता हुआ गया और फिर वो बहते हुए उस लाश की तरह लड़की को देख लिया ! उन्होंने अँधेरे में ही नहर में छलांग लगाया और उस मृत सामान लड़की कंधे पर उठाकर ऊपर तक लाया ! उसने पानी पीकर बेहोश और अचेत सी हो गई थी ! जैसे ही पानी पेट से निकालना शुरू किया , थोड़ी से शरीर में हलचल हुई फिर पुलिस वैन ने उन्हें लेकर अस्पताल ले गए जहाँ उन्हें खतरे से बहार बताया गया !

वो जाँबाज कोई सिपाही या कोई प्रशाशन के लोग नहीं था , वो एक आम आदमी था ! जबकि वो खुद बहुत ही जल्दी में था क्योंकि उनका बेटा को हाथ के ऊँगली कट गया था जिसे अस्पताल ले जाना था और उनकी पट्टी करना था !

एक बात और उनके जेब में बहुत सारे रुपैये भी थे और सोचने लगे की अगर वो पैंट पहनकर कूदते है तो सारे के सारे कागजात और रुपैये ख़राब हो सकते है और अगर खोलते है तो कोई कहीं ले न भागे ! पर उन्होंने सब कुछ भूलकर उस लड़की की जान बचाने के लिए अपनी पैंट उतारा और कूद गए !

लड़की के लिए वो किसी अदृश्य शक्ति बनकर उनकी रक्षक साबित हुए ! "इंसानियत अभी भी जिन्दा है" , कौन कहता है लोगों की आत्मीयता मर गई है ? इस संसार में अभी भी है ऐसे लोग जिनपर देश और हम सब गर्व करते है

मैं उस जांबाज व्यक्ति का नाम जरुर बताना चाहूँगा , जी हाँ वो मेरे भी अजीज है जिसका नाम है लोकपाल अत्री जिसे हम झिल्लू के नाम से भी बुलाते है ! मकान न० - 2060 सेक्टर- 16 फरीदाबाद के निवासी है और वो हरियाणा के स्कुल में बतौर शारीरिक प्रशिक्षक ( Phyical Trainer ) कार्यरत है !
मोबाईल न० :- +91 9650500770 है ! कबड्डी के अंतरराष्ट्रीय खिलाडी भी रह चुके है ! हमें गर्व है ऐसे लोगों पे जिन्होंने अपनी अकलमंदी, होशियारी,हौसलों व मजबूत इरादों से मौत पर जिन्दगी की जित दर्ज करा दी !


सभी साथियों से निवेदन है की इसे ज्यादा से ज्यादा लिंक करे ताकि जांबाजी की यह सन्देश ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुच सके !! मौत पर फतह हासिल करने वाले इस जांबाज को मेरी ओर से हार्दिक शुभकामना !!

For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " दिल को रखें दुरुस्त - एलोवेरा जेल से ! सर्दियों में भी रखें त्वचा जवाँ - एलोवेरा युक्त उत्पाद से ! !

0 comments

Post a Comment