" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Jul 6, 2010

याददाश्त को बढ़ाये, forever Bit's N Piches अपनाए |

वर्तमान समय की भाग-दौड़, अनियमित दिनचर्या, असंयमित और अस्त-व्यस्त जीवनशैली का सीधा असर हमारे दिमाग पर पड़ता है | देर से उठाना, देर रात तक सोना, युवा वर्ग की एक आदत बन गई है | जिसके कारण कुछ दिनों के पश्चात् नींद आँखों से गायब होने लगती है, फिर चिडचिडापन, तनाव आदि परेशानियों से व्यक्ति गुजरता है और यादाश्त क्षीण होने लगती है |

एक ओर जहाँ अव्यवस्थित जीवनशैली का हमारी याददाश्त पर प्रतिकूल असर पड़ता है वहीँ रोजमर्रा की जिन्दगी में तकनीक के बढ़ते दखल ने हमें बेहद आराम परस्त बना दिया है |
जो बाते पहले हमारे मस्तिष्क में सुरक्षित होती थी पर आज हम मोबाइल व कंप्यूटर पर सुरक्षित रखने लगे है | इससे मस्तिष्क की याद रखने की क्षमता पर असर पड़ता है |
एक ही समय में कई प्रकार के काम करने से भी यह परेशानी होने लगती है | इस दिनचर्या का असर बच्चों पर भी पड़ा है |
उनमे ये समस्या आहार-विहार, लापरवाही या फिर जन्म जात भी हो सकती है | लेकिन व्यस्को में यह परेशानी अत्यधिक काम, चिता, पोषक तत्वों की कमी, धुम्रपान, मद्यपान आदि का परिणाम होती है |


धीरे-धीरे क्षीण होती स्मरण शक्ति के कारण कई बार व्यक्ति अवसाद ग्रस्त हो जाता है, इसीलिए पहले से सतर्कता जरुरी है | इस समस्या का समाधान भी है , लेकिन इसके कारण जानना आवश्यक है - मानसिक व स्नायु दुर्बलता के कारण एकाग्रता का आभाव, पोषक तत्वों की कमी एवं अनियमित दिनचर्या आदि स्मरण शक्ति को प्रभावित करते है |

स्मरण शक्ति को बढाने व तेज करने के लिए हमें मानसिक व शारीरिक रूप से स्वस्थ्य , सबल और निरोग रहना होगा | मानसिक रूप से स्वस्थ्य, सशक्त हुए बिना आप अपनी याददाश्त को प्रबल नहीं रख सकते | आप किसी भी काम को करते वक्त पूरा ध्यान उसी पर केन्द्रित करें | आप ऐसा तभी कर सकते है, जब आप एकाग्रचित हों | आपके मन में अन्य कोई और विचार नहीं आने चाहिए, जिस तरह से साउंड प्रूफ कमरे में कोई अन्य ध्वनि प्रवेश नहीं कर पाती |

भोजन में पौष्टिक खाद्य पदार्थों को शामिल करके भी स्मरण शक्ति को बढ़ाया जा सकता है | अतः नित्य "एलो बीट'स न पिचेज" का सेवन जरुर करना चाहिए | तथा बच्चों के भोजन में फास्ट फ़ूड , कोल्ड ड्रिंक को स्थान न दें , उन्हें समय पर सुलाए जिससे उनकी नींद भी पूरी हो सके और ब्रह्म मुहूर्त में टहलने से दिमाग और शरीर स्वस्थ्य रहते है |

याददाश्त को बरक़रार रखने में सहायक औषधियां निम्नलिखित है :-
१. एलो बीट'स न पिचेज (Forever Aloe Bit's N Piches) बच्चे के शारीरिक व मानसिक विकाश के लिए बेहद उपयोगी जूस है |
२. रोयल जेली ( Forever Royal Jelly ) : - ये मस्तिष्क सम्बंधित ,व त्वचा सम्बंधित, शारीरिक शक्ति प्रदान करती है |
. जिंक्गो प्लस ( Forever Ginkgo Plus ) :- स्नायु तंत्र को प्रबल करता है, स्मरण शक्ति बढ़ाता है , दमा रोग में बेहद उपयोगी है |
अतः उपरोक्त लिखित औषधि का सेवन कम से कम तीन महिना तक करें इसके साथ तली हुई , मशालेदार, मिर्च वाले भोज्य पदार्थ का सेवन न करें |

इससे निश्चित ही आप तीक्ष्ण और विलक्ष्ण स्मरण शक्ति के मालिक होंगे |
एलोवेरा के कोई भी स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद 15 % छूट पर खरीदने के लिए admin@aloe-veragel.com पर संपर्क करें और ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें
"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

1 comments

Udan Tashtari July 14, 2010 at 7:18 AM

धन्यवाद..बहुत जरुरत है इसकी.

Post a Comment