" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Jan 6, 2010

सिगरेट का धुआं सेहत का दुश्मन

क्या आप जानते है धुम्रापान ,बीड़ी,सिगरेट,सिगार,हुक्का पीने के कारण दमा ,chronical bronchitis,Lung कैंसर और ह्रदय रोग जैसी बीमारियाँ होती है हम सभी जानते है धुम्रपान हानिकारक होता है परन्तु यह कितना ज्यादा हानिकारक है,इसका हमें अंदाज़ा नहीं होता है सिगरेट के धुंएँ में बहूत से जहरीले तत्व होते है जो सिर्फ फेफड़े ही नहीं बल्कि पुरे शारीर में Free Redicals पैदा करते है हमारी अन्य कोई आदत शरीर को इतना नुकसान नहीं पहुंचाती जितना धुम्रपान से होता है अगर आप दो से तीन सप्ताह लगातार सिगरेट पीयें आपको इसकी लत लग जाएगी निकोटिन के कारण ऐसा देखा गया है की शराब पीने की लत से अपेक्षाकृत जल्दी छुटकारा पा सकते है पर सिगरेट छोड़ना बहूत कठिन होता है इसके अलावा सिगरेट पीते हुवे ब्यक्ति के साथ बैठ कर जो धुंआ आप साँस के साथ अन्दर लेते है वह सीधे कश लेकर खींचे गए धुंए से ज्यादा खतरनाक है इसे passive smoking (निष्क्रिय धुम्रपान) कहते हैं जो लोग निष्क्रिय धुम्रपान से प्रभावित होते है वो दमा ,ह्रदय रोग , और फेफड़े के कैंसर का खतरा मोल ले रहे हैं इसलिए सरकार ने सार्वजानिक जगह पर धुम्रपान पर रोक लगा दी है जो लोग सिगरेट के धुंए के आदी नहीं है उनमे इसके दुस्प्रभाव जल्दी और आसानी से देखे जा सकते है आप कल्पना कर सकते है,जो लोग रोज लम्बे समय तक सिगरेट के धुंए बाले माहौल में रहते है उनके स्वास्थ्य पर इसका कितना बुरा असर पड़ता होगा


एलोवेरा के कोई भी स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद 30 % छूट पर खरीदने के लिए admin@aloe-veragel.com पर संपर्क करें क्रोनिकल ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें


1 comments

Udan Tashtari January 7, 2010 at 7:11 AM

आभार,,वैसे ज्ञात तो है.

Post a Comment