" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Jan 14, 2010

सेहतमंद रहें जीवन शैली में परिवर्तन लाकर



स्वास्थय सेवाओं से जुड़े लोग रोकथाम की चिकित्सा को बढ़ाबा देने का दम भरते है परन्तु इसे आपने कभी गहराई से सोचा है डॉक्टर अपने मरीज को नियमित रूप से अस्पताल आकर मेडिकल चेकअप कराने की सलाह देते है जिससे उनका स्वास्थय ठीक रहें पर वास्तव में इसके पीछे उनका उद्देश्य यह होता है कि इन नियमित जाँच के कारण बीमारी का प्रारम्भिक अवस्था में ही पता लगा कर शीघ्रातिशीघ्र उसका उपचार प्रारम्भ हो सके पर बारीकी से देखा जाए तो वो किस चीज की रोकथाम कर पाते है बीमारी कि नहीं,बीमारी तो हो ही गई अब डॉक्टर आपको मरने नहीं देगा यह तो मृत्यु की रोकथाम हुई निश्चय ही,जितनी जल्दी बीमारी का पता चल जाएगा,उतना ही जल्दी उसपर काबू पाया जा सकेगा परन्तु यहाँ मैं द्रिढ़तापूर्बक यह कहना चाहता हूँ कि डॉक्टर बिरादरी और स्वास्थय सेवाएं सचमुच बीमारी की रोकथाम कर स्वस्थ्य रहने की शिक्षा अपने मरीजों को देने में प्रयासरत नहीं है दरअसल डॉक्टर बिरादरी बीमारियों का उपचार करने में इतनी ब्यस्त है कि उनके पास इतना समय ही नहीं कि वे अपने मरीजों को जीवन शैली में परिवर्तन कर स्वस्थ्य जीवन जीने के लिए शिक्षित कर सकें
यदि हम किसी ब्यक्ति को ऐसा बना दे कि उसे कोई जानलेवा बीमारी हो ही नहीं,उसके लिए हमें मरीजों को संतुलित आहार,नियमीत शारीरिक मेहनत और उच्च गुणवता के nutrition अपने जीवन में अपनाने के लिए प्रेरित करना होगा, तो यही सच्ची रोकथाम वाली चिकित्सा होगी
लगभग सभी डॉक्टर इस बात से सहमत है कि बीमारी होने पर दवाइयां शुरू करने से पहले मरीजों को जीवन शैली और खानपान में सुधार कर ठीक होने की एक इमानदार कोशिश अवश्य की जानी चाहिये पर सच्चाई यह है कि जीवन शैली सुधारने की एक सलाह भर देकर अपने कर्तब्य की इति श्री कर लेते है दरअसल डॉक्टर ये मान बैठते है कि मरीज अपनी जीवन शैली तो सुधारने से रहा,तो ये दवाई का पुर्जा ही इसकी जान बचा सकता है इसलिए डॉक्टर जैसे ही मरीज को बीमारी की पहचान करता है,वह सीधे दवा का पुर्जा लिखने बैठ जाता है


ऐसे भी मरीज होते है जिनकी दशा ज्यादा गंभीर होती है और उन्हें तुरंत दवाइयां देनी पड़ती है पर ऐसे मरीज को भी मौका देता हूँ कि जैसे ही उनकी दशा में सुधार हो, वे अपनी जीवन शैली में परिवर्तन करें जिससे जल्दी ही उनकी दवाएं कम की जा सकें और एक दिन बिलकुल बंद हो सकें
अनगिनत मेडिकल रिसर्च ने यह सिद्ध कर दिया है कि संतुलित भोजन,नियमित ब्यायाम और nutritional supplements लेकर हम अपने स्वास्थय की रक्षा कर सकते है, इतना ही नहीं ,हम अपने खोई हुई सेहत पुनः प्राप्त कर सकते हैं


एलोवेरा के कोई भी स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद 30 % छूट पर खरीदने के लिए admin@aloe-veragel.com पर संपर्क करें और ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें


3 comments

Udan Tashtari January 14, 2010 at 11:26 PM

आभार...

आमीन January 14, 2010 at 11:41 PM

thanks

Ratan Singh Shekhawat January 15, 2010 at 7:42 AM

बहुत ही लाभदायक जानकारी

Post a Comment