" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Jun 17, 2010

मोटापा स्वास्थ्य और सुंदरता का दुश्मन


आधुनिक युग में सुन्दरता मात्र चेहरे तक सिमित नहीं रहा है | चेहरे में चाहे कोई विशेष आकर्षक हो न हो पर शरीर छरहरा होना चाहिए | तभी वास्तव में उस व्यक्ति को चुस्त व दुरुस्त माना जाता है | जहाँ एक ओर शरीर के अंगों को सही आकार एवं सुन्दरता प्रदान करने के लिए चर्बी का होना आवश्यक है, वहीँ दूसरी ओर चर्बी जब जरुरत से ज्यादा एकत्रित होने लगती है, तो शरीर बदसूरत नजर आने लगता है |

वैसे भी मोटापा अनेक बीमारियाँ की जड़ है, एवं कई असाध्य रोगों के जनक भी होते है | यदि तन स्वस्थ्य रहे तो अपने-आप ही चेहरे पर नूर झलकता है | मोटापा सुन्दरता का दुश्मन है, विशेषकर महिलाए मोटापे की समस्या से ज्यादा प्रभावित होती है | महिलाएं छरहरी व कमनीय काया की कल्पना करती है |


जीवनशैली व आहार-विहार के साथ-साथ जो परिवर्तन सबसे पहले नजर आता है, वह है मोटापा |
इसे किसी भी तरह से सुखद नहीं माना जा सकता है | क्युकी इसकी वजह से विभिन्न प्रकार की शारीरिक समस्याएँ पैदा हो रही है | फेट बढ़ने से धमनियों में चर्बी जमा होकर उन्हें संकरा कर देती है , जिससे दिल की व्याधि होती है , मस्तिस्क का रोग स्ट्रोक, उच्च, रक्तचाप, आर्थराईटिस, डाईबिटिज, बवासीर आदि सभी बीमारियों की जड़ मोटापा है |

मोटापा एक व्यापक रोग है | मोटे लोगों की संख्या तेजी से बढती ही जा रही है | यह समस्या न केवल भारत में है बल्कि विश्व के सभी देशों , जातियों एवं सभी अवस्था के लोगों में पायी जाती है | प्रायः यह मध्य आयु के लोगों में ज्यादा पायी जाती है | विशेषकर महिलायें इससे ज्यादा प्रभावित हो रही है |


कारण है:- अधिक आहार लेना , हर वक्त कुछ न कुछ खाते रहना, दिन भर बठे-बैठे काम करना, शारीरिक श्रम कम करना, व्यायाम न करना, अलसी दिनचर्या, दिन में सोना, ज्यादा तेल का सेवन करना, मांसाहार व अंडे का सेवन करना, वंशानुगत प्रभाव व हार्मोनल असंतुलन आदि कारणों से चर्बी बढ़ने को मोटापा कहते है |
एक बार मोटापा आ जाये तो दूर करना कठिन होता है, मोटापा सिर्फ सौन्दर्य का दुश्मन ही नहीं, बल्कि सेहत का भी दुश्मन है |

शारीरिक सौन्दर्य के लिए शरीर की लम्बाई के अनुसार वजन का होना तथा उसका आनुपातिक वितरण होना आवश्यक है | लेकिन मोटापे से संतुलन बिगड़ जाता है | शरीर में अधिक चर्बी एकत्र होने से प्रायः त्वचा खीचकर बढ़ जाती है जो बाद में मोटापा कम होने या कम करने पर पहली स्थिति में न पहुंचकर लटक भी सकती है तथा झुर्रियां भी पड़ सकती है |
सामान्य से अधिक भार होने पर अस्थि संस्थान व जोड़ों को अधिक भार ढ़ोना पड़ता है | इससे रीढ़ की हड्डी में तथा जोड़ों में दर्द रहने लगता है और आदमी समय से पहले ही बूढ़ा दिखाई देने लगता है |


आज लड़कियां अपने शरीर और फिगर को लेकर बहुत ज्यादा चिंतित रहती है | जीरो फिगर की चाह में महिलाए अपनी सुन्दरता और स्वास्थ्य दोनों ख़राब कर रही है , क्यूंकि वो भोजन कम करती है या फिर समय से भोजन नहीं करती जो की गलत है |
यदि आप छरहरा होना चाहती है तो उचित तरीके से वजन कम करें | कुछ ऐसे नुस्खे है जिन्हें अपनाकर आप बिना डाईटिंग के भी स्लिमट्रिम हो सकते है |
१. सुबह-शाम खली पेट रोज 50ML Aloe vera gel का सेवन नियमित चार से छे महीने तक करें | जिससे आपका शरीर का निर्वाशिकरण हो जायेगा और आँत बिलकुल स्वस्थ्य एवं स्वक्ष हो जायेगा | जिससे आप स्वतः हलकी-फुलकी महसूर करने लगेंगे | हमेशा आप तरोताजा ,चुस्त-दुरुस्त महसूस करेंगे |
२. खाने की शुरुआत सलाद व छाछ से करें और अंत भी भोजन के साथ छाछ से करें |
३. सुबह नाश्ता जरुर करें |
४. व्यायाम जरुर करें |
५.भोजन के अंत में १-२ घूंट से ज्यादा पानी न पियें |
६. ज्यादा मात्रा में जूस व पानी पिए | फास्टफ़ूड, कोल्डड्रिंक का सेवन न करें |
७. सुबह खली पेट एक गिलास ठंढे पानी में निम्बू निचोरकर १ चम्मच शहद घोलकर पिए | आदि कुछ जीवन शैली में बदलाव लाये और आप स्वतः स्लिमट्रिम हो जायेंगे |
आयुर्वेद के अनुसार पहले मोटापा उत्पन्न करने वाले सभी कारणों का त्याग करें, संतुलित व पौष्टिक भोजन, नियमित दिनचर्या और रोजाना व्यायाम करने से आप सुन्दरता को मन और तन दोनों से महसूस करेंगी |

वैसे हमारे पास इसे दूर करने के लिए और भी पौष्टिक पूरक है जिसे सेवन करके आप मोटापा से बच सकते है :-
(a) Aloe Vera gel, ( b) Garlic Thyme (c) Garcinea Plus (d) Artis sea omega-3 (e) Bee Pollen इत्यादि से आप चार से छे महीने में शरीर में नई उर्जा का स्त्रोत महसूस कर सकते है |

एलोवेरा के कोई भी स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद 15 % छूट पर खरीदने के लिए admin@aloe-veragel.com पर संपर्क करें और ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें
"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

2 comments

Ratan Singh Shekhawat June 18, 2010 at 6:32 AM

मोटापे परेशान लोगों के लिए बढ़िया सलाह

vidhya August 18, 2011 at 1:14 PM

bahut sundar aap ki likh
padh kae aacha laga
dhnyavadh

Post a Comment