" "यहाँ दिए गए उत्पादन किसी भी विशिष्ट बीमारी के निदान, उपचार, रोकथाम या इलाज के लिए नहीं है , यह उत्पाद सिर्फ और सिर्फ एक पौष्टिक पूरक के रूप में काम करती है !" These products are not intended to diagnose,treat,cure or prevent any diseases.

Sep 8, 2010

पाइल्स ( वबासिर ) और एलोवेरा जेल !

आज जहाँ स्वास्थ्य रक्षा में आयुर्वेद का अपना विशेष महत्व है वहीँ बीमारियों की चिकित्सा पद्धति के रूप में भी अपना अस्त्तित्व को बुलंद किया हुआ है |
जहाँ कई तरह के चिकित्सा पद्धति बीमारियों पर असफल हो सकती है, उसे आयुर्वेद में माध्यम से ठीक किया जा सकता है | आयुर्वेद हमेश से लोगों की मान्यता पर खरा उतरता है | साथ ही यह लोगों में विश्वास पैदा करने में सफल हो चुकी है की, आयुर्वेद रोगों का समूल नाश करने वाली चिकित्सा है | इससे रोग को शरीर से स्थायी निराकरण संभव है |


वर्तमान में विकृत जीवनशैली व आहार विहार के कारण रोगों की लंबी श्रृंखला है किन्तु गुदा की बिमारियों में आयुर्वेद का अपना विशेष अधिकार रहा है | यह बात सर्वमान्य है की आज पाइल्स का इलाज में आयुर्वेद से अच्छी चिकित्सा पद्धति नहीं हो सकती है यह स्वयं का अनुभव भी है | अतः आज हम इस क्रम में पाइल्स की बिमारी पर चर्चा कर रहे है क्यूंकि इस बिमारी से ज्यादातर लोग पीड़ित होते है | सामान्य तौर पर अर्श का मतलब है पालीप्स तथा गुदा में होने वाले अर्श को पाइल्स के नाम से जाना जाता है | गुदा में स्थित शिराओं के फुल जाने का नाम ही अर्श है |

इनके प्रमुख कारण है आहार विहार की अनियमितता , अनेक प्रकार के संक्रमण भी एक कारण हो सकते है |
इन कारणों के आलावा आयुर्वेद में शोक , क्रोध,चिंता, मोह, आलस्य आदि के साथ-साथ मद्यसेवन अत्यधिक मैथुन, अत्यधिक व्यायाम आदि भी इनके लिए जिम्मेदार होते है | ह्रदय रोगियों में अर्श होना सामान्य बात होती है |

इस तरह से सामान्य कारणों से लेकर बीमारियों के उपद्रव भी पाइल्स हो सकते है | यह एक ऐसे दुश्मन है जो शरीर के विनाश में लम्बा समय लेते हुए कष्ट के साथ जीवन जीने को मजबूर करते है |


आजकल हर गली के चौक चौराहें व मुख्य मार्ग पर पाइल्स या और भी कई प्रकार के बीमारियों का शर्तिया इलाज करते हुए चिकित्सक अपना बोर्ड व पर्चा चिपकाए नजर आते है | परन्तु कई बार देखा गया है की इन्ही निम् हकीम के वजह से लोग और भी मुसीबत में पर जाते है | अर्थात इस प्रकार से पर्चे वाले चिकित्सक से आपको सावधानी से काम करना चाहिए |

पाइल्स के इलाज़ के लिए आप हमारे एलोवेरा जूस के साथ भी शुरू कर सकते है | चुकी आयुर्वेद के अनुसार अगर आपका आंत और दांत स्वस्थ्य है तो आप को किसी भी प्रकार के कोई रोग हो ही नहीं सकता | अतः आप अपने आहार को ठीक रखें जिससे आपक पेट ठीक रहे |

नई या पुरानी, साधारण या भयंकर, कैसी भी समस्या हो, कहीं का भी बीमारी हो, एलोवेरा बिमारी के पैदा होने के मूल कारणों को ही शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है | एलोवेरा इस प्रकार से नई बिमारी को पैदा नहीं होने देता है | जिस प्रकार गाड़ी की सर्विस कराते है, एलोवेरा ठीक उसी प्रकार से शरीर को अन्दर से सर्विस करता है | नहाने से शरीर की बाहरी भाग की सफाई होती है | एलोवेरा से शरीर के अन्दुरुनी भाग की सफाई होती है | जाहिर सी बात है अगर आप अंदर से साफ़ है तो कोई बिमारी आपको छू भी नहीं सकता है |


पाइल्स के लिए हमारे पास निम्नलिखित उत्पाद है जो इस्तेमाल कर कर इससे मुक्ति पा सकते है :-
1 . एलो वेरा जेल
2 . फील्ड्स ऑफ़ ग्रीन
3 . फॉर एवर अल्ट्रा लाईट
4 . एलो लिप्स
5 . गार्लिक थाइमस


For Aloe Vera products Join Forever Living Products for free as a Independent Distributor and get Aloe Vera products at wholesale rates! (BUY DIRECT AND SAVE UP TO 30%)To join FLP team you will need my Distributor ID (Sponsor ID) 910-001-720841.or contact us- admin@aloe-veragel.com
एलोवेरा के बारे में विशेष जानकारी के लिए आप यहाँ यहाँ क्लिक करें

"एलोवेरा " ब्लॉग ट्रैफिक के लिए भी है खुराक |
अरे.. दगाबाज थारी बतियाँ कह दूंगी !

1 comments

Ratan Singh Shekhawat September 13, 2010 at 7:34 AM

सराहनीय प्रस्तुती

Post a Comment